उत्तर प्रदेश: गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ, शिष्‍यों को देंगे ऑनलाइन आशीर्वाद

गोरखनाथ मंदिर में आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा का पर्व परंपरागत रूप से मनाया जाता रहा है। लेकिन इस वर्ष यह परंपरागत तरीके से नहीं मनाया जाएगा। मंदिर में गुरु पूजन का कार्यक्रम भी नहीं होगा। कोरोना संक्रमण को देखते गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में मंदिर प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। शिष्य मंदिर में आकर अपने गुरु गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ का आशीर्वाद नहीं लेंगे बल्कि उन्हें आशीर्वाद स्वरूप शुभकामना पत्र भेजा जाएगा।

गोरखपुर. कोरोना वायरस से बचाव को अपनाए गए उपायों के मद्देनजर गुरु पूर्णिमा को शिष्यों को मिलने वाला आशीर्वाद इस वर्ष ऑनलाइन मिलेगा। मंदिर प्रशासन ने इसकी तैयारियां भी कर ली हैं। इतना ही नहीं, चुनिंदा शिष्यों को पत्र भेजकर भी आशीर्वचन देने की तैयारी है। शिष्यों को शुभकामना पत्र भेजा जाएगा।गोरखनाथ मंदिर में आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा का पर्व परंपरागत रूप से मनाया जाता रहा है। लेकिन इस वर्ष यह परंपरागत तरीके से नहीं मनाया जाएगा। मंदिर में गुरु पूजन का कार्यक्रम भी नहीं होगा। कोरोना संक्रमण को देखते गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में मंदिर प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। शिष्य मंदिर में आकर अपने गुरु गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ का आशीर्वाद नहीं लेंगे बल्कि उन्हें आशीर्वाद स्वरूप शुभकामना पत्र भेजा जाएगा। यह जिम्मेदारी मंदिर प्रबंधन को सौंपी गई है।

मंदिर प्रबंधन अब शिष्यों की सूची बनाने में जुटा है। इस सूची में नाथ संप्रदाय के साधु, संत, पुजारियों के अलावा गृहस्थ शिष्य व शहर के लोग भी शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि शुभकामना पत्र के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लोगों से कोराना संक्रमण से बचाव के लिए घर में पर्व मनाने की अपील भी करेंगे।

तैयारी के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरु पूर्णिमा के दिन शिष्यों को ऑनलाइन संबोधित करेंगे। गुरु-शिष्य परंपरा के महत्व को समझाएंगे। इसके अलावा नाथपंथ में गुरु-शिष्य परंपरा में भूमिका पर प्रकाश भी डालेंगे।

मंदिर सचिव द्वारिका तिवारी ने बताया कि मंदिर में गुरु पूजा का आनुष्ठानिक कार्यक्रम परंपरागत तरीके से ही होगा। सभी नाथ योगियों को परंपरा रूप से भोग लगाया जाएगा। इस पूजा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शामिल होने की पूरी संभावना है।

गोरखनाथ मन्दिर के प्रधान पुजारी योगी कमलनाथ ने बताया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए श्रद्धालुजनों से अपील है कि वे गुरु पूर्णिमा महोत्सव अपने घर पर परिवार के साथ मनाएं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रद्धालुजनों को हार्दिक शुभकामना देते हुए महायोगी गुरु गोरक्षनाथ से उनके सुखमय जीवन की कामना की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button