रिलायंस का मार्केट कैप 11.5 लाख करोड़ रुपये के पार, NO 1 बाजार पूंजीकरण की उपलब्धि हासिल

कारोबार के दौरान सोमवार को कंपनी का बाजार पूंजीकरण 26150.05 करोड़ रुपये बढ़कर 1159318.60 करोड़ रुपये हो गया। बता दें कि देश की सबसे मूल्यवान कंपनी आरआईएल ने पिछले महीने 11 लाख करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण की उपलब्धि हासिल कर इस मुकाम पर पहुंचने वाली देश की पहली कंपनी बन गई थी। रिलायंस के शेयरों में आई ये तेजी पिछले 52 हफ्तों का सबसे शानदार प्रदर्शन है।

नई दिल्‍ली. देश के सबसे अमीर शख्‍स मुकेश अंबानी की अगुवाई वाले रिलायंस इं‍डस्‍ट्रीज लिमिटेड का बाजार पूंजीकरण 11.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को पार कर गया। बीएसई पर कंपनी के शेयर का भाव 3.11 फीसदी उछाल के साथ 1843.15 अंक के रिकॉर्ड उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। वहीं, एनएसई पर कंपनी के शेयर का भाव 3.28 फीसदी उछलकर 1846.60 के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया।कारोबार के दौरान सोमवार को कंपनी का बाजार पूंजीकरण 26150.05 करोड़ रुपये बढ़कर 1159318.60 करोड़ रुपये हो गया। बता दें कि देश की सबसे मूल्यवान कंपनी आरआईएल ने पिछले महीने 11 लाख करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण की उपलब्धि हासिल कर इस मुकाम पर पहुंचने वाली देश की पहली कंपनी बन गई थी। रिलायंस के शेयरों में आई ये तेजी पिछले 52 हफ्तों का सबसे शानदार प्रदर्शन है।

दरअसल पिछले हफ्ते के अंतिम कारोबारी दिन शुक्रवार को अमेरिकी कंपनी इंटेल कैपिटल ने रिलायंस जियो प्लेटफार्म्स में 1,894.50 करोड़ रुपये के निवेश में 0.39 फीसदी  हिस्सेदारी खरीदने का सौदा किया। जियो प्लेटफॉर्म्स में अप्रैल से लेकर अब तक विभिन्न ग्लोबल कंपनियों को अलग-अलग हिस्सेदारी बेचकर आरआईएल कुल 1.17 लाख करोड़ रुपये से अधिक की राशि जुटा चुकी है।

उल्लेखनीय है कि जियो प्लेटफॉर्म्स में सबसे पहले 22 अप्रैल को फेसबुक ने हिस्सेदारी खरीदी थी। उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला ने निवेश किया, जिसके बाद अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी (एडीआईए), टीपीजी, एल कैटरटन और पीआईएफ ने भी हिस्सेदारी खरीदी। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इसके अलावा 53,124 करोड़ रुपये के राइट्स इश्यू भी जारी किए। इस निवेश से प्राप्त राशि के बाद कंपनी कर्जमुक्त बन गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button