मुस्लिम धर्मगुरु ने CM योगी से की मांग, बकरीद से पहले बकरा मंडी लगाने दे इजाजत

आपको बता दे, कि 21 जुलाई को चांद देखा जाएगा, इसके मद्देनजर 31 जुलाई या 1 अगस्त को ईद उल अजहा पूरे देश में मनायी जाएगी. ईदगाह के शाही इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी ने इसी के मद्देनजर CM योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है. और बकरा मंडी लगाने की इजाजत मांगी।

लखनऊ।। मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीदी फिरंगी महली के मुत्तबिक, गांव और देहात में रहने वाले किसान, बड़ी तादाद में इन जानवरों को पालते हैं और ईद के मौके पर शहर में लाकर इसे बेचते है. यह उनकी रोजी रोटी का साधन है.ईद-उल-अजहा यानी बकरीद के मद्देनजर सुन्नी धर्मगुरु और ईदगाह के शाही इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ को एक पत्र लिखकर ईद के दौरान उनसे पहले बकरा मंडी लगवाने की मांग की है. क्योंकि ईद में बकरे की कुर्बानी दी जाती है.

उन्होंने कहा है कि दूरदराज से लोग आकर कुर्बानी के लिए बकरा मंडी सजाते हैं. लिहाजा ऐसी मंडियों को लगने दिया जाए. इसके साथ ही कोरोना के संक्रमण को देखते हुए इन मंडियों में उचित तरीके से सैनिटाइजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के प्रयोग को अनिवार्य किया जाए.

मुस्लिम धर्म गुरु मौलाना खालिद रशीदी फिरंगी महली के मुताबिक, गांव और देहात में रहने वाले किसान, बड़ी तादाद में इन जानवरों को पालते हैं और ईद के मौके पर शहर में लाकर इसे बेचते है. यह उनकी रोजी रोटी का साधन है. लिहाजा जिला प्रशासन को हिदायत दी जाए कि ऐसे किसानों के लिए जानवरो को लाने, ले जाने और बेचने में किसी तरह की रुकावट पैदा ना की जाए, उनको हरसंभव सहूलियत दी जाए.

इसके अलावा मुस्लिम धर्म गुरु ने यह भी मांग की है कि मुस्लिम इबादतगाह में 50 प्रतिशत लोगों को एक समय में अंदर जाने की अनुमति प्रदान की जाए. रोग बढ़ने का खतरा ना हो तो पूरे प्रदेश की तमाम ईदगाहों और मस्जिदों में भी 50 प्रतिशत लोगों के साथ नमाज अदा करने की इजाजत दी जाए.

आपको बता दे, कि 21 जुलाई को चांद देखा जाएगा, इसके मद्देनजर 31 जुलाई या 1 अगस्त को ईद उल अजहा पूरे देश में मनायी जाएगी. ईदगाह के शाही इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी ने इसी के मद्देनजर CM योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है. और बकरा मंडी लगाने की इजाजत मांगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button