CM योगी शनिवार को 07 नई प्रयोगशालाओं का करेंगे लोकार्पण, Corona testing में होगा इजाफा

Corona testing लैब अलीगढ़, वाराणसी, गोण्डा, मुरादाबाद, बरेली, मीरजापुर और लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल में प्रारम्भ की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि लखनऊ में पहले से लैब हैं, लेकिन अन्य छह जनपदों में राज्य सरकार की प्रयोगशाला अभी तक नहीं थी। इनके शुरू होने से अब प्रतिदिन होने वाली कोरोना जांच में और इजाफा होगा।  

हेल्थ डेस्क. प्रदेश में कोरोना संक्रमण का प्रसार रोकने और लोगों को समय पर बेहतर इलाज मुहैया कराने के उद्देश्य से राज्य में स्थापित की गई 07 नई प्रयोगशालाओं का कल 11 जुलाई को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुभारम्भ करेंगे। इससे कोरोना संक्रमण की जांच (Corona testing) और अधिक इजाफा होगा।
अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शुकवार को बताया कि चिकित्सा विभाग ने जिला-मंडलीय अस्पतालों में 07 नई प्रयोगशालाएं स्थापित की हैं, जो अब काम करना शुरू देंगी। इनका लोकार्पण मुख्यमंत्री द्वारा कल विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में किया जायेगा।
ये लैब  (Corona testing) अलीगढ़, वाराणसी, गोण्डा, मुरादाबाद, बरेली, मीरजापुर और लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल में प्रारम्भ की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि लखनऊ में पहले से लैब हैं, लेकिन अन्य छह जनपदों में राज्य सरकार की प्रयोगशाला अभी तक नहीं थी। इनके शुरू होने से अब प्रतिदिन होने वाली कोरोना जांच में और इजाफा होगा।
उन्होंने बताया कि इसके साथ ही प्रदेश में कोविड हेल्प डेस्क का जाल बिछाया जा रहा है, जिससे विभिन्न कार्य स्थलों पर लोगों की प्रारम्भिक जांच में कोई लक्षण मिलने पर उनका टेस्ट कराया जा सके और अन्य लोगों को भी समय रहते संक्रमण से बचाने में मदद मिले।
प्रदेश में अब तक 36 हजार से ज्यादा कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कर दी गई हैं। प्रदेश के चिकित्सालयों, राजस्व कार्यालयों, थानों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों आदि जगहों पर ‘कोविड हेल्प डेस्क’ की स्थापना कर दी गई है। यहां सेनेटाइजर, इन्फ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर आदि की व्यवस्था की गई। लोगों को इस सम्बन्ध में जागरूक करते हुए इसका लाभ लेने की अपील की जा रही है।
अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य ने बताया कि राज्य में इस समय 36,114 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित की जा चुकी है। इनके जरिए 16,030 लक्षण वाले लोगों की पहचान की गई है और फिर उनके जांच नमूने लेकर भेजे गए हैं। उन्होंने बताया कि सरकारी अस्पतालों से लेकर निजी अस्पतालों, सरकारी-निजी कार्यालयों, कारागारों, उद्योग स्थलों आदि में इसे स्थापित किया जा रहा है। इससे काफी मदद मिली है।
दरअसल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीते दिनों सभी सरकारी तथा निजी संस्थानों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित करने को कहा था। इसके बाद सभी विभागों एवं जिलाधिकारियों को सभी स्थानों पर कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये जाने के निर्देश दे दिए गए। जनपदों में सभी कार्यालयों, थानों, तहसीलों, विकास खण्डों, सरकारी एवं निजी चिकित्सालयों में कोविड हेल्प डेस्क स्थापित की जा रही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button