कानपुर कांड: विकास दुबे एनकाउंटर पर देश में राजनीति तेज, ये राजनैतिक पार्टियां उठा रही सवाल

राजदीप सरदेसाई ने ट्वीट करते कहा था," एक सेवानिवृत्त IPS अधिकारी ने बताया है कि यह संभावना नहीं है कि विकास दुबे पकड़ा जाए। वह तथा उसके सहयोगी ज्यादातर एनकाउंटर में मारे जाएंगे। उसे बहुत सी मशहूर हस्तियों के काफी राज मालूम हैं।"

नई दिल्ली. विकास दुबे एनकाउंटर मामले में केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में भी राजनीति तेज हो गई है। जहां एक और क्षेत्रीय पार्टियां नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी ने एनकाउंटर पर सवाल उठाए हैं तो वहीं प्रदेश कांग्रेस ने एनकाउंटर को झूठा करार दिया।नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि मरे हुए लोग कहानियां नहीं सुनाते। इससे पहले उन्होंने मशहूर पत्रकार राजदीप सरदेसाई का एक ट्वीट साझा करते हुए कहा कि लोग इस ट्वीट का मजाक उड़ा रहे थे। राजदीप सरदेसाई ने ट्वीट करते कहा था,” एक सेवानिवृत्त IPS अधिकारी ने बताया है कि यह संभावना नहीं है कि विकास दुबे पकड़ा जाए। वह तथा उसके सहयोगी ज्यादातर एनकाउंटर में मारे जाएंगे। उसे बहुत सी मशहूर हस्तियों के काफी राज मालूम हैं।” उमर अब्दुल्ला ने कहा कि लोग इस ट्वीट का मजाक उड़ा रहे थे।

जम्मू कश्मीर प्युपल डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता नईम अख्तर ने एनकाउंटर पर कहा है कि यह सिंघम का राज्य है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव शाहनवाज चौधरी ने इस एनकाउंटर नकली करार दिया। उन्होंने कहा,”मैं कहता हूं फेक एनकाउंटर, यह सुनते हैं योगी आदित्यनाथ”।

आपको बताते चलें कि कानपुर के बिकरू गांव में सीओ सहित आठ पुलिस वालों की हत्या करने वाले पांच लाख के इनामी विकास दुबे को पुलिस ने उज्जैन के महाकाल मन्दिर से धर दबोचा था।  गाड़ी उसे कानपुर ला रही थी। इस दौरान गाड़ी पलट गई। उसने हथियार छीकर भागने की कोशिश की। जिसके बाद पुलिस ने उसे मुठभेड़ में मार गिराया है।

वहीं विपक्षी दल इस एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए योगी आदित्यनाथ को घेरने में लगे हैं। एनसी, पीडीपी तथा प्रदेश कांग्रेस की माने तो एनकाउंटर फेक है। इस एनकाउंटर के साथ ही कई ऐसे राज भी दफन हो गए हैं जो बड़ी-बड़ी हस्तियों का पर्दाफाश कर सकते थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button