विकास दुबे की कार नहीं पलटी, सरकार पलटने से बचाई गई: अखिलेश यादव

विकास दुबे के समाजवादी पार्टी के साथ के संबंध को लेकर अखिलेश साफ साफ कुछ भी कहने से बचते नजर आए. उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार विकास दुबे से जुड़े सारी जानाकरी सार्वजनिक करे और बताए कि हाल के दिनों में वो किसके संपर्क में था. बीजेपी वाले विकास की मां से कहलवा रहे हैं कि वो समावादी पार्टी में थे जबकि उनके स्कूटर पर BJP लिखा हुआ है.

क्राइम डेस्क।। UP के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह एनकाउंटर सरकार को बचाने के लिए किया गया है. उन्होंने कहा कि ये कार पलटी नहीं है, सरकार को पलटने से बचाया गया है, क्योंकि विकास दुबे के जिंदा रहने से कई राज खुल सकते थे.UP के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राजदीप सरदेसाई से खास इंटरव्यू में कहा योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह एनकाउंटर सरकार को बचाने के लिए किया गया है. उन्होंने कहा कि ये कार पलटी नहीं है, सरकार को पलटने से बचाया गया है, क्योंकि विकास दुबे के जिंदा रहने से कई राज खुल सकते थे.
अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी पार्टी शुरुआत से ही कह रही है कि विकास दुबे के संबंध BJP के कई नेताओं से हैं. सुबह कार पलटने की जनाकारी मिली. उसके बाद अपराधी भागने की कोशिश करता है और फिर पुलिस की गोलीबारी में मारा जाता है. मेरा कहना है कि जिस अपराधी का एनकाउंटर हुआ है उसका बीजेपी से सीधे-सीधे संबंध थे. अभी तक विकास ने जो भी अपराध किए हैं उसमें BJP के नेताओं का भी सहयोग था. वर्ना एसएसपी को क्यों हटाना पड़ा? थाने की पूरी पुलिस को हटानी पड़ी. पुलिस के कई स्थानीय अधिकारी विकास दुबे के यहां चाय पीते थे.
अखिलेश ने आगे कहा, जितने लोगों का एनकाउंटर हुआ है पुलिस उसके मोबाइल की सीडीआर जारी करे. सरकार मालूम करे कि विकास दुबे को कौन जानकारी दे रहा था. इन गंभीर मुद्दों को लेकर पर्दा क्यों नहीं उठाया जा रहा है. विकास दुबे की हत्या या एनकाउंटर इसलिए किया गया है क्योंकि इसके सीने में कई राज दफ्न थे. राज से अगर पर्दा उठ जाता तो BJP आज सवालों के जवाब नहीं दे पाती. ये कार पलटी नहीं है. मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार पलटने से बचाया है.
आपको बता दे, कि विकास दुबे के समाजवादी पार्टी के साथ के संबंध को लेकर अखिलेश साफ साफ कुछ भी कहने से बचते नजर आए. उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार विकास दुबे से जुड़े सारी जानाकरी सार्वजनिक करे और बताए कि हाल के दिनों में वो किसके संपर्क में था. बीजेपी वाले विकास की मां से कहलवा रहे हैं कि वो समावादी पार्टी में थे जबकि उनके स्कूटर पर BJP लिखा हुआ है.
अखिलेश ने कहा कि विकास दुबे की पत्नी समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ रही थीं. सवाल यह उठता है कि साढ़े तीन साल से प्रदेश में आपकी सरकार है, तकनीक है फिर जानकारी क्यों नहीं दी जा रही है. थाने से पुलिस कप्तान को हटाया जा रहा है. पुलिस के आठ जवान शहीद हो गए. पुलिस कप्तान ने कार्रवाई क्यों नहीं की. उनका क्या रोल था? पुलिस कप्तान ने पहले भी घटना कराने की कोशिश की है.

अखिलेश ने कहा कि कोई तो है जो विकास दुबे को बचा रहा था. इसलिए मैं कहता हूं कि सरकार सीडीआर रिपोर्ट सार्वजनिक करे. हमारी पार्टी का भी मानना है कि इस मामले में न्यायिक जांच बिठाई जाए. अगर सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में इसकी जांच हुई तो कई बड़े राज सामने आ सकते हैं.

अखिलेश ने योगी सरकार पर निशाा साधते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में कई लोगों पर झूठे मुकदमें लगाए जा रहे हैं. क्या डॉ कफील ने बच्चों को बचाने की कोशिश नहीं की थी? लेकिन उसपर मुकदमा चलाया गया जिससे कि बच्चों के मरने की खबर लोगों तक ना पहुंचे. UP में नकली मुकदमें लगाए जा रहे हैं. कोविड-19 मामलाों को लेकर भी 18 हजार से ज्यादा मुकदमें लगाए गए हैं. देश में कहीं मुकदमें लगे हों तो बताइए. यहां पत्रकारों पर भी मुकदमा लगाए गए हैं. क्योंकि उन्होंने सच बोल दिया. पांच-छह पत्रकारों पर मुकदमा दर्ज कर दिया जाता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button