कानपुर बिकरु कांड: गैंगेस्टर विकास दुबे के घर से बरामद हुई शहीद पुलिसवालों के हथियार, सर्च ऑपरेशन जारी

उन्होंने कहा कि घटना के सम्बन्ध में थाना चौबेपुर पर मु0 अ0 स0 192/20 धारा 147/148/149/302/307/120 बी 412 IPC व 7 कि0ला0 एक्ट पंजीकृत किया गया है। अभियुक्तों की गिरफ्तारी व लूटे हुए असलहां की बरामदगी के लिए SSP कानपुर नगर द्वारा SP पश्चिमी व SPR ए के नेतृत्व में कई टीमें गठित की गई हैं।

कानपुर. बिकरु गांव में CO समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या की जांच बराबर जारी है और बराबर अभियुक्त पकड़े जा रहे हैं। देर रात भी एक अभियुक्त शशिकांत पाण्डेय पकड़ा गया। इसकी निशानदेही पर पुलिस ने घटना के मुख्य अभियुक्त व पांच लाख के इनामी रहे विकास दुबे के घर से पुलिस की लूटी हुई एके 47 असलहा बरामद किया गया है। इसके साथ ही शशिकांत के घर से पुलिस की लूटी हुई इंसास रायफल भी बरामद की गयी है। यह जानकारी मंगलवार को कानपुर पुलिस लाइन में प्रेस वार्ता कर उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एण्ड आर्डर प्रशांत कुमार ने दी।
चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरु गांव में दो जुलाई की रात्रि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गयी पुलिस टीम पर विकास और उसके साथियों ने हमला कर दिया था। इस हमले में CO समेत आठ पुलिस कर्मी मारे गये थे। इसके बाद से पुलिस बराबर अभियुक्तों पर कार्रवाई कर रही है। मंगलवार को कानपुर पुलिस लाइन में प्रेस वार्ता कर एडीजी लॉ एण्ड आर्डर प्रशांत कुमार ने अब तक इस घटना में हुई कार्रवाई की जानकारी दी।
उन्होंने कहा कि घटना के सम्बन्ध में थाना चौबेपुर पर मु0 अ0 स0 192/20 धारा 147/148/149/302/307/120 बी 412 IPC व 7 कि0ला0 एक्ट पंजीकृत किया गया है। अभियुक्तों की गिरफ्तारी व लूटे हुए असलहां की बरामदगी के लिए SSP कानपुर नगर द्वारा SP पश्चिमी व SPR ए के नेतृत्व में कई टीमें गठित की गई हैं। आज SOG टीम व शिवराजपुर पुलिस व रेलबाजार पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा मुखविर की सूचना पर वांछित अभियुक्त व 50,000 रुपये का इनामिया अभियुक्त शशिकान्त उर्फ सोनू पाण्डेय पुत्र प्रेम कुमार पाण्डेय उर्फ रामाराम निवासी ग्राम बिकरू थाना चौबेपुर को मेला तिराहा कस्वा चौबेपुर से गिरफ्तार किया गया।
पूछताछ से उसने घटना में अपनी संलिप्तता के साथ विकास दुबे, अमर दुबे, अतुल दुबे, प्रेमकुमार पाण्डेय, प्रभात मिश्रा, बउअन दुबे, हीरु, शिवम, जिलेदार, रामसिंह, रमेशचन्द्र, गोपाल सैनी, अखिलेश मिश्रा, विपुल, श्यामू बाजपेयी, राजेन्द्र मिश्रा, बालगोविन्द दुबे, दयाशंकर अग्निहोत्री आदि लोगों का घटना में सम्मिलित होना बताया।
बताया कि लूटा गया असलहा अपने तथा विकास दुबे के मकान में विकास दुबे के कहने पर छिपा दिया है। इसकी निशानदेही पर विकास दुबे के घर से एके-47 व 17 कारतूस तथा शशिकान्त से घर से इंसास रायफल व 20 अदद कारतूस बरामद किया गया। जिसके संबंध में अग्रिम कार्रवाई की जा रही है और गांव में कानून व्यवस्था की स्थिति सामान्य हो रही है।
बताया कि अब तक इस घटना के मुख्य अभियुक्त विकास दुबे सहित छह अभियुक्त एनकांउटर में मारे जा चुके हैं और चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं महाराष्ट्र में पकड़े गये गुड्डन त्रिवेदी और सोनू को लेकर कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्हे रिमांड पर ले लिया है और UP लाया जा रहा है। बताया कि अब तक 21 अभियुक्त इस कांड में नामित किये गये हैं और जांच कर इनकी संख्या में बढ़ोत्तरी की जाएगी। अमर दुबे की पत्नी के जेल जाने पर ADG ने कहा कि जो भी कार्रवाई होगी नियमानुसार होगी और कोई भी बेकसूर जेल नहीं जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button