बेहतर पुलिसिंग और पीड़ितों को न्याय दिलाना पहली प्राथमिकता: SSP प्रभाकर चौधरी

अंबेडकरनगर UP के रहने वाले प्रभाकर चौधरी 2010 बैच के IPS है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से BSC करने के बाद उन्होंने LLB की पढ़ाई की है। सादगी पसंद और मृदुभाषी प्रभाकर चौधरी को अपराधियों के खिलाफ सूबे में काफी सख्त माना जाता है। वह बलिया, बुलंदशहर, कानपुर में SP के पद पर तैनात रह चुके हैं।

मुरादाबाद. वर्ष 2010 बैच के आईपीएस अफसर प्रभाकर चौधरी की गिनती सूबे के कर्मठ व ईमानदार पुलिस अफसरों में होती है। बताया जाता है कि IPS प्रभाकर चौधरी जहां अंदर से नरम स्वभाव के है वहीं अपराधियों के लिए उतने ही सख्त साबित होते है । पीड़ितों को न्याय दिलाना उनकी हर जनपद में पहली प्राथमिकता रही है । बेहतर पुलिसिंग में माहिर IPS प्रभाकर चौधरी क्राइम को कम करने में हर जनपद में कुछ नया प्रयोग करते हुए भी नजर आए।

मुरादाबाद में शनिवार को चार्ज लेते ही जनपद में बड़ी घटनाओं के जगह का जहां जायजा लिया वहीं उसके खुलासे को लेकर काफी गंभीर भी दिखे। IPS प्रभाकर चौधरी ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत में कहा की उनकी प्रथमिकता जिले से क्राइम को पूरी तरह से खत्म कर बेहतर पुलिसिंग सिस्टम लागू करने की है जिससे पीड़ितों को समय से निष्पक्ष जांच कर उन्हें न्याय दिलाना है। वहीं कोरोना काल मे फैल रहे संक्रमण को देखते हुए उन्हें मास्क न लगाने वालों पर भी कड़ी कार्यवाही करते हुए 100 रुपये की जगह 500 रुपये का जुर्माना लगाने को कहा है। आईपीएस जल्द ही जिले भर के थानेदारों से बैठक कर कानून व्यवस्था के तहत नई रणनीति बनेंगे।

बता दे, अंबेडकरनगर UP के रहने वाले प्रभाकर चौधरी 2010 बैच के IPS है। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से BSC करने के बाद उन्होंने LLB की पढ़ाई की है। सादगी पसंद और मृदुभाषी प्रभाकर चौधरी को अपराधियों के खिलाफ सूबे में काफी सख्त माना जाता है। वह बलिया, बुलंदशहर, कानपुर में SP के पद पर तैनात रह चुके हैं। साथ ही SP ATS, SSP बिजनौर, SSP मथुरा, SSP सीतापुर, SSP बुलंदशहर, SP सोनभद्र और SSP वारणसी के रूप में कार्य कर चुके हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button