उत्तराखंड में कोरोना मरीजों के सैम्पल का बैकलॉग बढ़ा, 11000 से अधिक सैम्पल जांच की इंतजार

मंगलवार को ही 3875 सैम्पल जांच के लिए भी भेजे गए। राज्य के कोविड 19 कंट्रोल रूम की रिपोर्ट के अनुसार राज्य में मंगलवार शाम तक 11,077 सैम्पल कोरोना जांच के लिए टेस्टिंग की इंतजार में थे। 

हेल्थ डेस्क. उत्तराखंड में पिछले एक सप्ताह में जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की पॉजिटिव रिपोर्ट आने की तादाद में रिकार्ड इजाफा हुआ है, वहीं जांच की बाट जोह रहे कोरोना सैम्पलों की संख्या भी तेजी से बढ़ी है। हालात यह है कि जांच का इंतजार में पड़े सैम्पलों की संख्या 11 हजार के पार पहुंच गई है।
इसके बावजूद औसतन रोजाना दो से ढाई हजार के करीब सैम्पलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो पा रही है। मिसाल के तौर पर मंगलवार को 2348 सैम्पल की जांच हुई, जिनमें 2138 सैम्पल की जांच रिपोर्ट निगेटिव और 210 सैम्पल की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। हालांकि मंगलवार को ही 3875 सैम्पल जांच के लिए भी भेजे गए। राज्य के कोविड 19 कंट्रोल रूम की रिपोर्ट के अनुसार राज्य में मंगलवार शाम तक 11,077 सैम्पल कोरोना जांच के लिए टेस्टिंग की इंतजार में थे।
राज्य में मौजूदा समय में कोरोना के 1459 एक्टिव मरीज विभिन्न अस्पतालों में उपचाररत हैं। इनमें सर्वाधिक 437 एक्टिव मरीजों के साथ हरिद्वार शीर्ष पर है। उसके बाद क्रमशः ऊधम सिंह नगर (351), देहरादून (320) और नैनीताल (198) हैं। अन्य जिलों में अल्मोड़ा में 17, चमोली में चार, चंपावत में 17, पौड़ी में 18, पिथौरागढ़ में 13, टिहरी में 41 और उत्तरकाशी में 43 एक्टिव मरीज हैं।
राज्य के अपर सचिव युगल किशोर पंत ने ‘हिन्दुस्थान समाचार’ से कहा. “सरकारी लैब के अलावा निजी लैब को भी जांच के लिए सैम्पल भेजे जा रहे हैं। पहले के मुकाबले सरकारी लैब में सैम्पल जांचने की रफ्तार बढ़ाई गई है। अब प्रत्येक मेडिकल कॉलेज की सरकारी लैब में 500 से अधिक सैम्पल की जांच की जा रही है। उनकी भी सैम्पलिंग की जा रही है, इसलिए सैम्पल लेने की गति तेज हुई है। इस तरह सैम्पल लेने और जांच करने, दोनों की गति में तेजी आई है और उम्मीद करनी चाहिए कि जल्द ही यह बैकलॉग क्लियर हो जाएगा।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button