पत्रकार विक्रम जोशी हत्याकांड: सरकार द्वारा मृतक के परिवार को 10 लाख की आर्थिक सहायता

विजयनगर बाईपास निवासी विक्रम जोशी सोमवार रात माता कॉलोनी निवासी बहन के घर गए थे।रात करीब 10:30 बजे वहां से आते समय कुछ बदमाशों ने उन पर हमला बोल दिया। एक बदमाश ने तमंचा सिर से सटाकर उन्हें गोली मार दी।

क्राइम डेस्क.  20 जुलाई की देर रात को बदमाशों की गोली का शिकार हुए पत्रकार विक्रम जोशी के आश्रितों को जहां जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने 10 लाख की आर्थिक सहायता, उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी तथा बच्चों की पढ़ाई का खर्च वहन करने का आश्वासन दिया जबकि पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष और वरिष्ठ पत्रकार जितेन्द्र बच्चन ने पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या की घटना की कड़ी निन्दा की है।
उन्होंने बुधवार को इस मामले पर दुख और क्षोभ व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से 50 लाख रुपये की तात्कालिक सहायता और जोशी परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने के साथ-साथ घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है। एसोसिएशन के अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि विगत एक वर्ष के में प्रदेश में पत्रकारों पर हमले, और फर्जी मुकदमे दर्ज कराने की अनेक घटनाएं हुईं।
इस दौरान पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन ने कई बार शासन को पत्र लिखा, लेकिन दुर्भाग्य है कि कभी किसी मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया। बच्चन ने कहा है कि यदि सरकार ने इस बार भी उपेक्षा दिखाई तो पत्रकार खामोश नहीँ बैठेंगे।
विजयनगर बाईपास निवासी विक्रम जोशी सोमवार रात माता कॉलोनी निवासी बहन के घर गए थे।रात करीब 10:30 बजे वहां से आते समय कुछ बदमाशों ने उन पर हमला बोल दिया। एक बदमाश ने तमंचा सिर से सटाकर उन्हें गोली मार दी।परिजनों के मुताबिक विक्रम जोशी के परिवार की एक लड़की के साथ छेड़छाड़ हुई थी। इस संबंध में थाने में नामजद शिकायत की गई थी, लेकिन पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने पर आरोपी पीड़ित पक्ष को लगातार धमकी दे रहे थे। विक्रम जोशी इस मामले की पुलिस में पैरवी कर रहे थे। इसी बात को लेकर आरोपियों ने उन्हें गोली मार दी।पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से इस मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button