गुरुग्राम: बिना मास्क के घर से बाहर निकलना पड़ा भारी, 13 हजार लोगों के चालान कर वसूले पैसे

कोरोना की रोकथाम के लिए पुलिस विभाग द्वारा कई प्रकार के कार्य किए जा रहे हैं। इनमे से एक जीओ फेंसिंग का कार्य पुलिस कर रही है। पुलिस प्रशासन द्वारा 4 हजार 759 लोगों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने, उन्हें कोरोना संबंधित परामर्श देने तथा कोरोना से बचाव उपायों के बारे में जानकारी दी गई है।

हेल्थ डेस्क. जिला में फेस मास्क ना पहनने वालो के अब तक 13 हजार चालान किए जा चुके हैं, जिनसे जुर्माने के तौर पर मिली 64 लाख रूपये की राशि सरकारी खजाने में जमा करवाई गई है।
कोरोना की रोकथाम के लिए पुलिस विभाग द्वारा कई प्रकार के कार्य किए जा रहे हैं। इनमे से एक जीओ फेंसिंग का कार्य पुलिस कर रही है। पुलिस प्रशासन द्वारा 4 हजार 759 लोगों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने, उन्हें कोरोना संबंधित परामर्श देने तथा कोरोना से बचाव उपायों के बारे में जानकारी दी गई है। इतना नहीं जिला में 1500 व्यक्तियों को व्यक्तिगत रूप से उनके घर जाकर कोरोना से बचाव उपायों के बारे में समझाया गया और उनका मनोबल बढ़ाया गया। DSP मुख्यालय नितिका के मुताबिक नगर निगम गुरुग्राम तथा स्वास्थ्य विभाग कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए डेटा गुरुग्राम पुलिस के साथ सांझा करते हैं, जिसके बाद व्यक्ति को ट्रेस करके संबंधित विभाग को इसकी जानकारी दी जाती है। उन्होंने बताया कि जिन 2500 लोगों के मोबाइल बंद या आउट ऑफ रेंज आ रहे थे उनकी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की गई है।
साथ ही उन्होंने बताया कि जब से सेंपल क्लेक्शन के दौरान व्यक्ति का मोबाइल नंबर तथा आईडी लेनी अनिवार्य की गई है तब से कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग में आसानी हुई है। अब कोई भी संक्रमित व्यक्ति ऐसा नहीं रहता जिससे कान्टेक्ट ना किया गया हो। उन्होंने बताया कि जिला में वर्तमान में 30 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हैं तथा 110 पुलिसकर्मी डिस्चार्ज हो चुके हैं। पुलिसकर्मी के संक्रमित होते ही उसे आइसोलेशन सेंटर में भेज दिया जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button