कानपुर: 30 लाख की फिरौती ले अपहरणकर्ता दोस्तों ने की पैथालॉजी कर्मी की हत्या

पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए योजना बनाई और परिवार से कहा 30 लाख रुपये का इंतजाम कीजिए। पुलिस का प्लान था कि जब बदमाश फिरौती की रकम लेने आएंगे तब उन्हें दबोच लिया जाएगा।

कानपुर. बर्रा थाना क्षेत्र का अपहृत पैथालॉजी कर्मी संजीत यादव अब इस दुनिया में नहीं रहा। हिरासत में लिए गये उसके दो दोस्तों ने बताया कि उसकी हत्या कर शव को पाण्डु नदी में बहा दिया गया है। इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका शुरु से ही संदिग्ध रही और पुलिस के सामने ही परिजनों ने फिरौती की 30 लाख रुपये की रकम दी थी। पुलिस की शिथिलता को लेकर SSP ने बर्रा इंस्पेक्टर को निलंबित भी कर दिया है और अभी भी पूरे मामले की जांच चल रही है।
पीड़ित पिता ने आरोप लगाते हुए बताया कि पुलिस के कहने पर उन्होंने घर बेचकर 30 लाख रुपये फिरौती अपहरर्ताओं को दे दिए। इसके बाद भी पुलिस अपहरणकर्ताओं को नहीं पकड़ सकी और बेटे की हत्या कर दी गयी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस से बैग में ट्रैकिंग डिवाइस लगाने के लिए कहा था लेकिन उनकी एक न सुनी।
 
पीड़ित पिता और युवक की बहन और मां जब मीडिया के सामने पुलिस पर आरोप लगा रहे थे तो पुलिस की ओर से जो बयान आये उसमें भी विरोधाभास रहा। SP दक्षिण अपर्णा गुप्ता ने पहले कहा था कि कोई बैग अपहरणकर्ताओं को नहीं दिया गया, पर जब मामले का संज्ञान SSP दिनेश कुमार पी ने लिया तो कहा कि बैग तो पुल से फेका गया पर उसमें रुपये नहीं थे।
 
मामले को लेकर SSP ने जांच कमेटी गठित कर दी है और प्रथम दृष्टतया थाना प्रभारी रणजीत राय दोषी पाये गये। इसके बाद SSP ने उन्हे फौरन निलंबित भी कर दिया। बताया जा रहा है कि अभी इस मामले और कई पुलिस कर्मी है और उन पर भी कार्रवाई होना तय है। अपहरण मामले में थाना प्रभारी से लेकर SP दक्षिण तक की शिथिलता पायी गयी। यही नहीं थाना प्रभारी का एक ऑडियो भी वायरल हुआ था जिससे पता चलता है कि वह खनन माफियाओं से मिलकर अवैध खनन अपने क्षेत्र में कराता था।
 
परिजनों ने एक ऑडियो मीडिया को दिया है जिसमें पुलिस के सामने बैग पुल से अपहरणकर्ताओं को फेका गया। उस दौरान पीड़ित पिता और थाना प्रभारी रणजीत राय से बराबर बातचीत होती रही।
 
पुलिस के मुताबिक युवक के चार-पांच दोस्तों ने अपहरण की साजिश रची थी, जिसमें दो को पकड़ा जा चुका है और घटना को भी कबूल कर लिया है। SSP ने बताया कि अभी पाण्डु नदी में शव को खोजा जाएगा। इसके बाद पूरे मामले को लेकर प्रेस वार्ता कर घटना का खुलासा किया जाएगा। हिरासत में लिए गये अपहरणकर्ताओं के मुताबिक 26 और 27 की रात को युवक की हत्या की गयी है और शव को पाण्डु नदी में फेक दिया गया है।
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button