कोरोना काल में चाय की खपत बढ़कर 10 गुना ज्यादा, हर्बल टी की बढ़ी मांग

कोरोना काल में चाय कि सबसे ज्यादा मांग आ रही हैं और उसमें ग्राहक सबसे ज्यादा हर्बल व काढ़ा चाय की मांग कर रहा है। इन दिनों कोरोना महामारी के चलते ज्यादा उत्पादन नहीं हो पा रहा है।

कानपुर.  कोरोना काल में जहां अन्य व्यापार में व्यापारियों को बड़ा झटका लगा है। तो वहीं चाय कोरोबरियों को फायदा हुआ है। पूर्णबंदी और अनलॉक-01 के बीच चाय की खपत अपनी औसत खपत से बढ़कर 10 गुना ज्यादा हो गई है। चाय के शौकीन लोगों का मानना है कि चाय के पीने से कोरोना का खतरा कम हो जाता है।
कोरोना महामारी में लोगों का मानना ये भी है कि गर्म चीजों के सेवन से कोरोना पर काबू किया जा सकता है। जिसके लिए अब सरकारी दफ्तर, प्राइवेट संस्थान व अन्य जगहों पर भी काढ़ा चाय व हर्बल टी की मांग बढ़ती जा रही है। कानपुर चाय उद्योग व्यापार मंडल के महामंत्री श्याम अग्रहरि ने बताया कि कोरोना काल में अन्य दिनों के बदले चाय की खपत को बढ़ा दिया है।
जिसके कारण हम व्यापारी भाई ग्राहकों को उनकी मांगों को पूरा नहीं कर पा रहे है। चाय की पूर्ति न करने का मुख्य कारण पश्चिम बंगाल, असम व दार्जलिंग की चाय की खेतों में चाय तुड़ान न होने के कारण चाय की पत्तिया सड़ गयी है।

उपभोक्ता को सस्ती या महंगी पत्ती एक सामान कीमतों में मिलती रहती है जबकि लोकल पैकिंग की पत्ती की कीमतें आवक के दौरान होने वाले भाव पर निर्भर करती है। उनका कहना है कि दुकानों में ग्राहकों की मांग अब काढ़े के सेवन के लिए सबसे ज्यादा हर्बल चाय की हो रही है। क्योंकि चाय के सेवन से आपकी इम्नियूटी पॉवर को भी बढ़ा देता है।

उन्होंने बताया कि कोरोना काल में चाय कि सबसे ज्यादा मांग आ रही हैं और उसमें ग्राहक सबसे ज्यादा हर्बल व काढ़ा चाय की मांग कर रहा है। इन दिनों कोरोना महामारी के चलते ज्यादा उत्पादन नहीं हो पा रहा है। क्योंकि कोविड 19 के नियमों के अनुसार ज्यादा मात्रा में लोग इकठ्ठा हो कर काम नहीं कर सकते है। जिसके कारण उत्पादन में कमी आ रही है। इस वर्ष चाय व्यापार की स्थिति अच्छी नहीं है। उस पर असम व प.बंगाल में आयी इस बाढ़ से चाय की खड़ी फसल चौपट हो रही है। भारी वर्षा होने के कारण चाय बागानों में पानी भी भर गया है। जिसकी वजह से चाय के रेटों में बढ़ोतरी हुई है। हालांकि तभी चाय के प्रेमी अभी भी कम नहीं हुए है।

चाय का भाव-

चांदनी चाय 240 रु. प्रति किलो
सलोनी चाय 280 रु. प्रति किलो
सलोनी सुपर स्ट्रांग चाय 360 रु. प्रति किलो
मधुर चाय 200 रु. प्रति किलो
मयूर फैमली चाय 160 रु. प्रति किलो
फैमली डस्ट चाय 180 रु. प्रति किलो
स्पेशल होटल चाय 180 रु. प्रति किलो
ग्रीन टी (हर्बल चाय) 600 रु. प्रति किलो

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button