UP के इस जनपद में मौतों का आकड़ा तेज, वायरस से अब तक 23 लोगों की गयी जान

जनपद में शासन के द्वारा घोषित किये गए दो दिवसीय शनिवार और रविवार के सम्पूर्ण लॉकडाउन का पालन सख्ती से करवाया जाता है। लॉकडाउन के दिन किसी भी तरीके के आवागमन और व्यपारियों के प्रतिष्ठान को न खोलने की चेतावनी जारी की गई है।

इटावा. उत्तरप्रदेश के इटावा जनपद में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की मौत का आंकड़ा दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। जनपद में अभी तक वायरस की वजह से 23 लोग मौत को गले लगा चुके हैं। जनपद में वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 671 पहुंच गई है।
मुख्यविकास अधिकारी राजा गणपति आर ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में कोरोना वायरस की वजह से 23 मरीजों की मौत हो चुकी है। बीते मंगलवार को सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में भर्ती 66 वर्षीय व्रद्ध की मौत होने से मरने वालों की संख्या 23 हो गई है। मृतक मरीज के शव का प्रोटोकॉल के तहत बहुत ही सावधानी से स्वास्थ्य विभाग की टीम ने परिजनों की निगरानी में दाह संस्कार करवाया है।उन्होंने बताया कि जनपद में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 671 पहुंच गई है, जिनमें 23 मरीजों की मौत हो गयी है, चार सौ इकतालीस मरीज स्वस्थ्य होकर अपने घरों में वापिस जा चुके है और शेष मरीजों का इलाज कोविड-19 अस्पताल में चल रहा है।
उन्होंने बताया कि जनपद में चार दर्जन से अधिक इलाकों को हॉटस्पॉट और कंटेन्मेंट जॉन घोषित कर सील किया जा चुका है। सभी इलाकों में पूरी तरीके से आवागमन पर प्रतिबंध लगाया गया है सभी इलाकों में केवल आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए छूट दी गई है। इन इलाको की निगरानी के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है। स्वास्थ्य विभाग और नगर पालिका टीम द्वारा सभी इलाकों को रोजाना सैनिटाइज्ड करवाया जाता है।
उन्होंने बताया कि शासन के निर्देशानुसार अब स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की टीम घर-घर जाकर लोगो के सैम्पल लेने में जुट गई है। जनपद में शासन के द्वारा घोषित किये गए दो दिवसीय शनिवार और रविवार के सम्पूर्ण लॉकडाउन का पालन सख्ती से करवाया जाता है। लॉकडाउन के दिन किसी भी तरीके के आवागमन और व्यपारियों के प्रतिष्ठान को न खोलने की चेतावनी जारी की गई है। लॉकडाउन वाले दिन पुलिस और जिला प्रशासन की टीम सड़कों पर रहकर पालन करवाती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button