खत्म हुआ इन्तजार, अंबाला पहुंचे पांच राफेल, ऐसे किया गया स्वागत

इसी तरह सिंगल सीट वाले तीन विमानों को बीएस-001​,​ ​बीएस​-​003​ और बीएस​-004 ​नाम दिया गया है​।​ ​​​​​​अंबाला एयरबेस पहुंचने पर राफेल विमानों को 'वाटर सैल्यूट' ​दिया गया​।

नई दिल्ली. आखिरकार लम्बे इन्तजार के बाद पांच राफेल विमानों ने बुधवार दोपहर अंबाला एयरबेस पहुंच गए। सुरक्षित लैंडिंग होते ही पूरा देश खुशी से झूम उठा। इन फाइटर जेट्स ने सुबह 11 बजे यूएई से उड़ान भरी थी।​ दोपहर ​​01.29​ बजे भारतीय वायु क्षेत्र में​ प्रवेश करते ही वायुसेना के दो सुखोई-30एमकेआई विमानों ने राफेल की इस फ्लीट को अंबाला एयरबेस तक ​​​एस्कॉर्ट ​करने की भूमिका निभाई।​​ पांचों राफेल ने पहले पूरे एयरबेस की परिक्रमा की और करीब 3 बजकर 9 मिनट पर ​​​अंबाला एयरबेस पर​ सुरक्षित लैंडिंग होने के बाद राफेल विमानों को ‘वाटर सैल्यूट’ ​दिया गया​।​ ​​
फ्रांसीसी शहर बोर्डो के मेरिनैक एयरबेस से उड़ान भरने के सात घंटे बाद सोमवार रात को ये विमान संयुक्त अरब अमीरात में अबू धाबी के पास अल धफरा में फ्रांसीसी एयरबेस पर उतरे थे। इस बीच मंगलवार सुबह अमेरिका के साथ चल रहे तनाव के बीच ईरान ने संयुक्‍त अरब अमीरात स्थित फ्रांस के अल धफरा हवाई ठिकाने के पास कई मिसाइलें दागीं। इस ईरानी मिसाइल परीक्षण के बाद पूरे फ्रांसीसी बेस को हाई अलर्ट कर दिया गया। 
इसी एयरबेस पर भारत आ रहे पांचों राफेल फाइटर जेट खड़े थे और उनके साथ भारतीय पायलट भी मौजूद थे। ईरानी मिसाइल खतरे को देखते हुए भारतीय पायलटों को भी सुरक्षित स्‍थानों पर छिपने के लिए कहा गया और वे सुरक्षित स्‍थानों पर चले गए। ईरान इस इलाके में सैन्‍य अभ्‍यास कर रहा है। इसी क्रम में खाड़ी में स्थित अमेरिकी और फ्रांसीसी सैन्‍य ठ‍िकानों के पास मिसाइल परीक्षण किया गया​​। 
मौसम अनुकूल होने पर फ्रांस से 7 हजार किमी. की यात्रा पूरी करके दोपहर ​3 बज​कर 9 मिनट पर अंबाला एयरबेस पर सुरक्षित लैंडिंग की। ​भारत पहुंचे पांच राफेल्स में से ​ट्विन सीटर्स​ दो विमानों को आरबी-001 ​और ​ ​आरबी​-​004 ​नाम दिया गया है​​​।​ इसी तरह सिंगल सीट वाले तीन विमानों को बीएस-001​,​ ​बीएस​-​003​ और बीएस​-004 ​नाम दिया गया है​।​ ​​​​​​अंबाला एयरबेस पहुंचने पर राफेल विमानों को ‘वाटर सैल्यूट’ ​दिया गया​।​ ​​राफेल की अगवानी करने के लिए वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया, पूर्व वायुसेना प्रमुख चीफ मार्शल बीएस धनोवा, फ्रांसीसी दूतावास के अधिकारी और वायुसेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारी अंबाला एयरबेस पहुंचे। ​राफेल को उड़ाकर लाने वाली पायलट्स की टीम ​की अगुवाई ग्रुप कैप्टन हरकीरत सिंह ​ने ​की​​।​ ​यहां​ सफल लैंडिंग होने के बाद ​​चालक दल ने एयर चीफ भदौरिया को फ्रांस में मिलीं ट्रेनिंग के बारे में अवगत कराया​​। ​



Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button