कोविड-19: रक्षा बंधन के लिए सजे बाजार, न पहले जैसा सामान न पहले जैसी भीड़

भिवानी में इस बार त्यौहार फीका है। दुकानदारो का कहना है लोग कोरोना के डर के कारण बाजार में नही निकल रहे है। भिवानी के प्रमुख बाजार हांसी गेट पर सजी दुकानो के मालिकों का कहना है कि उन्होंने अपनी तरफ से पूरी वैरायटी उपलब्ध करवा रखी है।

भिवानी. रक्षा बंधन के मौके पर बाजार भले ही सज गए हों लेकिन इस बार कोरोना के कारण ज्यादा राखियां नही बन पाई। जिस कारण ज्यादा वेरायटी दुकानो पर उपलब्ध नही है। बहने भी दुकानो पर आ रही है और भाइयों के लिए राखी खरीद रही है फिर भी बाजारों में पिछले वर्षों के मुकाबले रौनक काफी कम है लोग ऑनलाइन व्यापार ज्यादा कर रहे है।
भिवानी में इस बार त्यौहार फीका है। दुकानदारो का कहना है लोग कोरोना के डर के कारण बाजार में नही निकल रहे है। भिवानी के प्रमुख बाजार हांसी गेट पर सजी दुकानो के मालिकों का कहना है कि उन्होंने अपनी तरफ से पूरी वैरायटी उपलब्ध करवा रखी है। बावजूद इसके फिर भी लोग घरों से नही निकल रहे है। दूसरी सबसे बड़ी यह भी है कि इस बार ट्रेन व बस भी पूरी तरह नही चल रही है, जिसकी वजह से बहने अपने भाई के पास जाने में असमर्थ है।
दुकानदार सीमा की माने तो उनकी दुकान सज बेशक गई है, लेकिन उतनी बिक्री इस बार नही है। सब कुछ लॉकडाउन में बंद था, अभी भी पूरा सामान नही बन पाया है। उन्होंने बतया की इस बार बहने जो खरीदी कर रही है, वह अधिकत्तर गणेश की मूर्ति वाली या फिर आई लव माई बरोदर या फिर भाई से सबधित लिखी हुई राखियां बिक रही है।
भिवानी में 5 रुपये से 400 रुपये तक कि राखियां उपलब्ध है। वही दुकान पर आई बहनों ने बताया की कोरोना का काल बेशक है, लेकिन फिर भी वे रखी बांधने के आई है, इसलिए वे रखी खरीद रही है। उन्होंने बताया कि वे राजस्थान से भिवानी राखी बांधने के लिए आई है। उन्होंने बताया कि श्रावण महीने में राखी आती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button