नए मुख्य सचिव के बाद ही उत्तराखंड प्रशासन में तबादलों पर मचा हड़कंप!

आज ही मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह रिटायर हो रहे हैं तो दूसरी ओर नए मुख्य सचिव ओमप्रकाश की भी ताजपोशी है। यह भी कहा जा रहा है कि राज्य प्रशासनिक अमलों में हो रहे भारी फेरबदल को नए मुख्य सचिव की नियुक्ति से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

उत्तराखंड राज्य में यह महीने का आखिरी दिन यानी 31 जुलाई ब्यूरोक्रेसी के लिए हड़कंप मचाने वाला दिन है । देश का उत्तराखंड उन राज्यों में शामिल है जहां पुलिस प्रशासन अफसरों के जल्दी-जल्दी  तबादलों के लिए नहीं जाना जाता है । कई पुलिस प्रशासन अफसर एक स्थान पर वर्षों तक जमे रहते हैं । लेकिन इन दिनों अफसरों के तबादलों को लेकर उत्तराखंड एक बार फिर सुर्खियों में है । एक ओर राज्य कोरोना के बढ़ते संक्रमण से जूझ रहा है तो दूसरी ओर शासन ने अपने अफसरों के तबादले भी शुरू कर दिए हैं।

आज ही मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह रिटायर हो रहे हैं तो दूसरी ओर नए मुख्य सचिव ओमप्रकाश की भी ताजपोशी है। यह भी कहा जा रहा है कि राज्य प्रशासनिक अमलों में हो रहे भारी फेरबदल को नए मुख्य सचिव की नियुक्ति से भी जोड़कर देखा जा रहा है। अटकलें भी लगाई जा रही है कि देहरादून के डीएम डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव का भी तबादला हो सकता है ? हालांकि अभी इसकी अधिसूचना जारी नहीं हुई है।

शासन की ओर से जारी हुई ट्रांसफर लिस्ट के मुताबिक प्रदेश सरकार ने तीन जनपदों के डीएम समेत 13 अधिकारी बदल दिए। ऊधमसिंह नगर, बागेश्वर और उत्तरकाशी के डीएम के साथ पांच अन्य आईएएस ऑफिसर के तबादले के साथ ही पांच पीसीएस अफसरों का तबादला भी किया है। वैसे यह भी माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में राज्य प्रशासन अफसरों के कुछ और तबादले भी किए जा सकते हैं।

ओमप्रकाश आज राज्य के नए मुख्य सचिव के तौर पर संभालेंगे पदभार!

यहां हम आपको बता दें कि मुख्य सचिव पूरे प्रशासन व्यवस्था का सर्वेसर्वा यानी प्रधान अफसर होता है। मुख्य सचिव की नियुक्ति को लेकर यह भी कहा जाता है कि मुख्यमंत्री मनपसंद अफसरों को प्राथमिकता भी देते रहे हैं। जाहिर है जब किसी नए मुख्य सचिव की राज्य में नियुक्ति होती है तब वह प्रशासन में अपनी एक नई टीम भी तैयार करते हैं । ऐसे अफसर की नियुक्ति मुख्य सचिव की प्राथमिकता में शामिल रही है जो शासन के विकास कार्यों में खरा उतरे।
अभी वर्तमान मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह के कई चहेते अफसर जनपदों में तैनात हैं । हालांकि प्रशासनिक अफसरों में फेरबदल एक सामान्य प्रक्रिया भी कहीं जाती है। ओमप्रकाश उन वरिष्ठ आइएएस में शामिल हैं, जो राज्य बनने के बाद से उत्तराखंड में कार्यरत रहे हैं। वर्तमान में वह मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अपर मुख्य सचिव भी रहे।
उनकी गिनती मुख्यमंत्री के विश्वासपात्रों में होती है। वर्तमान में सूबे में कार्यरत आइएएस में ओमप्रकाश वरिष्ठतम हैं। यहां हम आपको बता दें कि ओम प्रकाश वर्ष 1987 बैच के आईएएस अधिकारी हैं । खास बात ये है कि उनकी सेवानिवृत्ति में डेढ़ वर्ष से कम वक्त शेष है। वरिष्ठता क्रम में उनसे पीछे केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर कार्यरत 1988 बैच के आइएएस डॉ एसएस संधू और 1988 बैच की अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी हैं। आइए जानते हैं कौन अफसर इधर-उधर किए गए हैं।

राज्य के यह हैं प्रशासनिक अफसर जो किए गए इधर उधर

 कार्मिक विभाग के आदेश के मुताबिक डा.नीरज खैरवाल को ऊधमसिंह नगर के डीएम पद के साथ ही तराई बीज विकास निगम के एमडी के पद से हटा कर उन्हें सीएम का अपर सचिव व ऊर्जा और यूपीसीएल का प्रबंध निदेशक बनाया गया है। डॉ. नीरज खैरवाल के तबादले को किच्छा विधायक राजेश शुक्ला से हुए विवाद से भी जोड़ कर देखा जा रहा है। ऊधमसिंह नगर की नई डीएम अब आईएएस रंजना होंगी।नैनीताल के सीडीओ पद पर तैनात विनीत कुमार को डीएम बागेश्वर बनाया गया है । डीएम उत्तरकाशी आशीष कुमार चौहान को ऊधमसिंह नगर के सीडीओ पद पर तैनाती मिली है तो वहीं मयूर दीक्षित को उत्तरकाशी का नया डीएम बनाया गया है । आशीष कुमार को नागरिक उड्डयन विभाग में अपर सचिव और यूकाडा के सीईओ पद पर तैनात किया गया है।
आईएएस नरेंद्र सिंह भंडारी को नैनीताल का सीडीओ, हिमांशु खुराना को सीडीओ ऊधमसिंह नगर पर तैनात किया गया है। आशीष भट्टराई पौड़ी के सीडीओ बनाए गए हैं। नरेश चंद्र दुर्गापाल को एसडीएम ऊधमसिंह नगर, सुंदर लाल सेमवाल को जिला विकास प्राधिकरण टिहरी का सचिव और अभय प्रताप सिंह को पिथौरागढ़ का डिप्टी कलेक्टर पद पर ट्रांसफर किया गया है।
शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button