अब मिठाई का शौक नहीं पड़ेगा सेहत पर भारी!

दुकान के काउंटर पर सजी मिठाईयों पर अब बेस्ट बिफोर डेट लिखी मिलेगी। ग्राहकों के नजरिए से कोशिश बहुत अच्छी है। लेकिन शहर के बड़े मिठाई के दुकानदार हो या छोटे।

नई दिल्ली।। यदि आप मिठाइयों के शौकीन हैं तो आपके लिए खुशखबरी ! अब आपको बासी मिठाई खाने की वजह से अस्पताल का रुख नहीं करना पड़ेगा। मिष्ठान की दुकानों के लिए नया कानून लागू कर दिया गया है। इसके तहत अब मिठाई की भी होगी एक्सपायरी, दुकानदारों को लिखनी होगी बेस्ट बिफोर डेट। मिठाई ताजी है.. ये पूछने के बाद मिठाई खरीदने की रवायत अब पुरानी हो जाएगी।

दुकान के काउंटर पर सजी मिठाईयों पर अब बेस्ट बिफोर डेट लिखी मिलेगी। ग्राहकों के नजरिए से कोशिश बहुत अच्छी है। लेकिन शहर के बड़े मिठाई के दुकानदार हो या छोटे। नई व्यवस्था को लेकर पसोपेश में हैं। सिर्फ इसलिए नहीं, क्योंकि उन्हें मिठाईयों पर प्रतिदिन लिखी गई तारीखों का ध्यान रखना होगा।

हालांकि कई मिठाई के दुकानदारों ने अपने स्तर से तैयारियां कर भी ली हैं। उम्मीद है कि दो-तीन दिन के भीतर नई व्यवस्था के तहत देशभर के साथ अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त धार्मिक एवं पर्यटन नगरी ऋषिकेश में भी मिठाइयों की दुकानों पर मिठाइयों की एक्सपायरी डेट भी नजर आनी शुरू हो जाएगी।

उल्लेखनीय है कि नवरात्र, करवा चौथ, दशहरा और दीपावली त्योहार नजदीक है। कोविड के बावजूद इस दीपावली मिठाई की बंपर बिक्री की उम्मीद लगाए मिठाई के विक्रेताओं के लिए गुणवत्ता बनाए रखने की नई बाध्यता लागू की गई है। खाद्य नियामक भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण ने हलवाईयों की दुकानों पर बिकने वाली खुली मिठाईयों पर एक्सपायरी तिथि लिखने का आदेश दिया है। अब काउंटर में रखी हर मिठाई के साथ एक चिट भी होगी कि इसको किस तारीख तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

अब एक्सपायरी की चिट बदलने की टेंशन नामचीन मिठाई विक्रेता कहते हैं कि दुकानदार को मालूम होता है कि खोया, छैना की बनी मिठाई को कब तक इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन प्रतिदिन चिट बदलना और एक्सपायरी का ध्यान रखना, छोटे दुकानदारों के लिए काफी मुश्किल होगा। खासकर त्योहारों पर नमूना भरने के लिए सबंधित विभाग की टीम को कार्रवाई का एक और बहाना मिल जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button