बिहार चुनाव से पहले BJP को लगा करारा झटका, रामेश्वर चौरसिया भी लोजपा में हुए शामिल

इससे एक दिन पहले भाजपा के बिहार प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह भी लोजपा में चले गये थे। ज्वाइनिंग के साथ ही चिराग पासवान ने उन्हें दिनारा विधानसभा क्षेत्र से सिंबल दे दिया था।

पटना।। बिहार चुनाव में गठबंधन और टिकटों की तस्वीर साफ होते ही दल-बदल का खेल शुरू हो गया है। लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने लगातार दो दिनों में भाजपा को तीन बड़े झटके दिए हैं। बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता और लगातार तीन बार विधायक रहे रामेश्वर चौरसिया बुधवार को चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) में शामिल हो गए। अब इनका लोजपा के सिंबल पर नोखा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है। लोजपा में शामिल होने के बाद रामेश्वर चौरसिया ने जदयू पर जमकर हमला बोला। कहा, जदयू को वोट देना पाप है। अब बिहार में लोजपा-भाजपा की सरकार बनेगी।

इससे एक दिन पहले भाजपा के बिहार प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह भी लोजपा में चले गये थे। ज्वाइनिंग के साथ ही चिराग पासवान ने उन्हें दिनारा विधानसभा क्षेत्र से सिंबल दे दिया था। उनके अलावा बीजेपी की एक और नेता डॉ. उषा विद्यार्थी और जदयू के भगवान सिंह कुशवाहा ने भी लोजपा का दामन थाम लिया। उषा विद्यार्थी पटना के पालीगंज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की विधायक रह चुकी हैं। वे बिहार राज्य महिला आयोग की सदस्य भी हैं। इस बार पालीगंज सीट जदयू के खाते में गई है।

BJP से लगातार तीन बार विधायक रहे हैं चौरसिया–

रामेश्वर चौरसिया भाजपा के टिकट पर नोखा विधानसभा सीट से लगातार तीन बार वर्ष 2000, 2005 और 2010 में विधायक रहे हैं। नीतीश के विरोधी माने जाने वाले चौरसिया 2015 में विधानसभा का चुनाव हार गए थे और इस बार उनकी नोखा सीट जदयू के खाते में चली गई है। इसलिए वे भाजपा नेतृत्व से नाराज थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button