तेजस एक्सप्रेस में यात्रियों को फेस शील्ड लगाना अनिवार्य, बगल की सीट रहेगी खाली

आईआरसीटीसी की गाइड लाइन के अनुसार, एयरलाइन की तरह तेजस एक्सप्रेस में 17 अक्टूबर से सफर करने के लिए फेस शील्ड का उपयोग करना अनिवार्य है।

लखनऊ।। भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) 17 अक्टूबर से लखनऊ से नई दिल्ली के बीच तेजस एक्सप्रेस का संचालन करने जा रहा है। कोविड-19 की वजह से तेजस एक्सप्रेस में बगल की सीट खाली रहेगी और यात्रियों को फेस शील्ड लगाना अनिवार्य है। आईआरसीटीसी ने तेजस एक्सप्रेस में सफर करने लिए गाइडलाइन जारी कर दी है।

आईआरसीटीसी की गाइड लाइन के अनुसार, एयरलाइन की तरह तेजस एक्सप्रेस में 17 अक्टूबर से सफर करने के लिए फेस शील्ड का उपयोग करना अनिवार्य है। कोविड-19 की वजह से यात्रियों के बगल की सीट खाली रहेगी। यात्रा के दौरान यात्रियों को दस्ताने भी पहनने होंगे। ट्रेन में सीट खाली रहने पर भी यात्री अपनी सीट पर ही बैठेंगे। यात्रा के दौरान अपनी सीट को बदल नहीं सकेंगे। यात्रियों को ट्रेन में सफर करने के लिए सुबह 4:30 बजे लखनऊ जंक्शन पर पहुंचना होगा। यह ट्रेन लखनऊ जंक्शन से करीब 6:10 बजे नई दिल्ली के लिए रवाना होती है। यात्रियों को इस वीआईपी ट्रेन में पैक्ड फूड मिलेगा।

आईआरसीटीसी के जनसंपर्क अधिकारी सिद्धार्थ सिंह ने गुरुवार को बताया कि तेजस एक्सप्रेस में सफर करने के लिए यात्रियों को आरोग्य सेतु एप इंस्टॉल करना जरूरी है। यात्रियों को टिकटों की बुकिंग के समय भी जरूरी दिशा-निर्देश दिए जाएंगे। सभी यात्रियों को कोविड-19 सुरक्षा किट दी जाएगी। इस किट में हैंड सेनिटाइजर, फेस शील्ड,मास्क और एक जोड़ी दस्ताने होंगे। कोच में प्रवेश करने से पहले सभी यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग के साथ हाथों को भी सेनीटाइज किया जाएगा। ताकि कोरोना वायरस के फैलाव को रोका जा सके। इसके अलावा एयरपोर्ट की तर्ज पर यात्रियों के सामान को भी सेनिटाइज किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button