UP: एंटीजन किट प्राप्त न करने वाले 16 प्राइवेट नर्सिंग होम को सीज करने के दिए निर्देश

उन्होंने आईसीएमआर फार्म भी प्राप्त करने तथा उसमें मरीज का आधार नंबर,पेन नबंर तथा मोबाइल नंबर अवश्य दर्ज करने का सुझाव दिया ताकि उसे ट्रेस किया जा सके।

झांसी।। जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने शनिवार को नगर निगम सभागार में कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए प्राइवेट नर्सिंग होम के चिकित्सकों से संवाद स्थापित किया। साथ ही एंटीजन किट प्राप्त न करने वाले 16 प्राइवेट नर्सिंग होम को सीज करने की कार्रवाई के लिए संबधित को निर्देश दिए।

कोविड जांच के लिए निजी चिकित्सालयों जिन्होंने किट प्राप्त नहीं की है उन चिकित्सालयों के चिकित्सकों से बात करते हुए कहा कि आने वाले समस्त मरीजों की एन्टीजन ट्रेस्टिंग करना अनिवार्य है, क्योंकि मरीजों की टेस्टिंग से आप भी सुरक्षित रहेंगे। उन्होंने नर्सिगहोम के संचालक, क्लीनिक संचालित करने वाले चिकित्सकों से कहा कि यदि पालन नहीं किया जाता है तो आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

 

जिलाधिकारी द्वारा करीब 31 नर्सिंग होम के चिकित्सकों से बात की। जिन्होंने अभी तक एंटीजन किट प्राप्त नहीं की है। उन्होंने कहा कि एंटीजन किट आपको मुफ्त उपलब्ध कराए जाने के बाद भी आप लोगों के द्वारा मरीजों की टेस्टिंग में रुचि नहीं ली जा रही है यह उचित नहीं है। उन्होंने 16 नर्सिंग होम के विरुद्ध कार्यवाही किए जाने के निर्देश देते हुए उन्हें सीज करने के निर्देश दिए।

उन्होंने नर्सिंग होम के चिकित्सकों से बात करते हुए कहा कि ऐंटीजन किट प्राप्त करते हुए सभी मरीजों की टेस्टिंग की जाए और प्रत्येक दशा में शाम 5 बजे तक रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग और रिपोर्ट फीडिंग कैसे की जानी है इसके लिए ऑपरेटर को प्रशिक्षित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की महामारी से निपटने के लिए आप सहयोग करें अन्यथा डिजास्टर मेनैजमेंट एक्ट के तहत कार्यवाही की जायेगी।

उन्होंने कहा कि अनजाने में कोविड पेशेंट का इलाज तो कर ही रहे थे अब कोविड जांच करने में क्या समस्या है ? उन्होंने आईसीएमआर फार्म भी प्राप्त करने तथा उसमें मरीज का आधार नंबर,पेन नबंर तथा मोबाइल नंबर अवश्य दर्ज करने का सुझाव दिया ताकि उसे ट्रेस किया जा सके।

जिलाधिकारी ने नर्सिंग होम संचालकों से सहयोग की अपील करते हुए कहा कि जनपद में एक तिहाई की टेस्टिंग की जा चुकी है, 6 लाख जनसंख्या है झांसी की। शेष लोगों की टेस्टिंग में सहयोग करें ताकि जल्द से जल्द सभी की टेस्टिंग की जा सके। इस अवसर पर नगर आयुक्त अवनीश कुमार राय, डा. एन.एस.सेंगर, डॉ सुधीर कुलश्रेष्ठ, डॉ. एनके जैन, डॉ.प्रतीक गुबरेले सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button