UP: पराली जलाने के मामले में लेखपाल निलंबित,11 किसानों को भेजी नोटिस

पराली जलाने वालों के खिलाफ विशेष अभियान चलाया जा रहा है। सैटेलाइट के जरिये ऐसे लोगों पर नजर रखी जा रही है जो पराली जला रहे हैं।

एटा।। पराली जलाने के मामले में जिला प्रशासन ने रविवार को 11 किसानों को नोटिस जारी किया है। साथ ही लापरवाही बरतने पर लेखपाल को निलंबित कर दिया। पराली जलाने वाले किसानों से प्रशासन अब जुर्माना वसूल करने की तैयारी में है।

पराली जलाने वालों के खिलाफ विशेष अभियान चलाया जा रहा है। सैटेलाइट के जरिये ऐसे लोगों पर नजर रखी जा रही है जो पराली जला रहे हैं। रविवार को सैटेलाइट से जलेसर क्षेत्र गांव नूहखेड़ा में पराली जलाने की जानकारी प्रशासन को हुई है। इसके बाद प्रशासन ने उन 11 किसानों को नोटिस जारी कर दिया है।

एसडीएम जलेसर ने बताया कि पराली जलाने का पहला मामला तकनीकी सैटेलाइट से संज्ञान में आया। मौके पर चेक कराया गया तो मामला सही पाया गया। जांच रिपोर्ट में संबंधित लेखपाल के निष्क्रियता बरतने को लेकर निलंबित कर दिया गया है। अभी तक पराली जलाने के 11 मामले संज्ञान में आये और सभी को नोटिस दे दिया गया है। किसानों का पक्ष सुनने के बाद अर्थ दंड अथवा एफआईआर की कार्रवाई की जायेगी।

उल्लेखनीय है कि जिलाधिकारी सुखलाल भारती ने तहसील एटा में 123,जलेसर में 51 और अलीगंज में 35 नोडल अधिकारी नामित किये हैं। डीएम में ग्राम स्तर के नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया है कि जिन कृषकों के द्वारा पराली जलाने की घटना सामने आती है,तब समस्त प्रभावी कदम उठाएं सूचना शीघ्रता के साथ एसडीएम,तहसीलदार के माध्यम से एसडीएम वित्त एवं राजस्व एवं नोडल अधिकारी (सेल) को दें। उन्होंने थानाध्यक्षों को भी क्षेत्र के गांव में निगरानी करने के निर्देश दिए हैं,जिन क्षेत्रों में घटना होती है उन क्षेत्रों के कर्मचारी उत्तरदाई होंगे ,उनके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button