बलिया: युवक की हत्या के मामले में CM योगी सख्त, SDM और CO समेत कई पुलिस कर्मी निलंबित

गुरुवार की दोपहर को कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर दुर्जनपुर गांव के पंचायत भवन पर एसडीएम सुरेश कुमार पाल और सीओ चन्द्रकेश सिंह की देखरेख में बैठक चल रही थी।

बलिया।। रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में सरकारी कोटे के तहत दुकानों के आवंटन के लिए एक बैठक के दौरान हुई फायरिंग में एक युवक की मौत हो गयी। इस मामले को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान में लेते हुए एसडीएम, सीओ और वहां पर मौजूद सभी पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लिया है और एसडीएम सुरेश पाल, सीओ चंद्रकेश सिंह और मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों को तत्काल निलंबित करने का आदेश दिया है। साथ ही आरोपित के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश देते हुए वहां मौजूद अफसरों के भूमिका की जांच के भी निर्देश दिए हैं। तनाव को देखते हुए गांव में कई थानों की पुलिस तैनात कर दी गई है।

गुरुवार की दोपहर को कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर दुर्जनपुर गांव के पंचायत भवन पर एसडीएम सुरेश कुमार पाल और सीओ चन्द्रकेश सिंह की देखरेख में बैठक चल रही थी। आवंटन को लेकर एक राय नहीं बनने पर वोटिंग कराने का निर्णय लिया गया। तय हुआ कि इसमें जिनके पास अधार अथवा कोई पहचान पत्र होगा वही वोट करेगा। एक पक्ष के लोग आधार कार्ड लेकर आए थे, लेकिन दूसरे पक्ष के पास कोई पहचान पत्र नहीं था।

इसी बात को लेकर हंगामा शुरु हो गया। देखते ही देखते दो पक्ष आपस में भिड़ गए। जिसमें ईट पत्थर के साथ ही गोलियां भी चलने लगीं। इसमें दुर्जनपुर पुरानी बस्ती निवासी जय प्रकाश उर्फ गामा पाल (40) को गोली लगने से मौत हो गयी। कई लोग घायल हैं, जिनका इलाज सीएचसी सोनबरसा पर चल रहा है।

एसपी ने मोर्चा संभालते हुए आरोपितों की धरपकड़ शुरु कर दी है। इस घटना में मृतक के ही गांव के ही धीरेंद्र प्रताप सिंह समेत आठ नामजद व करीब 24 अज्ञात को आरोपित किया गया है। मुख्य आरोपित धीरेंद्र सिंह भाजपा का नेता बताया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button