कानपुर में अबकी बार नहीं उठा बारावफात का जुलूस, प्रशासन और धर्मगुरुओं ने कोविड को देखते हुए लिया फैसला

प्रशासन ने मुस्लिम धर्मगुरुओं से बातचीत कर अपील की थी कि कोविड प्रोटोकाल के चलते इस बार जुलूस न निकाला जाए जिस पर सभी धर्म गुरुओं ने सहमति जताई थी।

कानपुर।। दुनिया भर को अपनी आगोश में लिए कोरोना संक्रमण अनलॉक के बाद भी धार्मिक कार्यों में बाधा बना हुआ है। इसी के चलते इसके संभावित खतरे को देखते हुए शहर में अबकी बार बारावफात का जुलूस नहीं उठ सका। इसके लिए प्रशासन और धर्मगुरुओं ने संयुक्त रुप से निर्णय लिया है।

बारावफ़ात के मौके पर कानपुर में उठने वाला सबसे बड़ा जुलूस इस बार कोरोना सक्रमण के चलते नहीं उठा। प्रशासन ने मुस्लिम धर्मगुरुओं से बातचीत कर अपील की थी कि कोविड प्रोटोकाल के चलते इस बार जुलूस न निकाला जाए जिस पर सभी धर्म गुरुओं ने सहमति जताई थी। इसके साथ ही लोगों से अपील की गयी थी कि लोग मस्जिदों में नमाज अदा करने के बाद अपने—अपने घरों को जाएं और किसी भी तरह का कोई जुलूस ना निकाले, जिसके चलते आज कानपुर में भी शांति पूर्वक नमाज अदा की गई और उसके बाद लोग अपने घरों की ओर रवाना हो गए।

वहीं पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर शहर के संवेदनशील मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में रूट मार्च निकाला और लोगों से अपील की कि लोग अपने घरों में रहकर ही इस त्यौहार को मनाएं। एसपी सिटी राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस बल को तैनात किया गया है, साथ ही सोशल मीडिया पर कोई किसी तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी ना करें इसके लिए चार टीमें बनाई गई हैं जो सोशल मीडिया पर निगरानी रखे हुए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button