बिहार विधानसभा चुनाव: कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू हुई मतगणना, चप्पे-चप्पे पर रखी जा रही है नजर

सेवा मतों की गिनती के लिए जिले के तीनों मतगणना केंद्र पर विधानसभा वार तीन-तीन टेबल पर लगाए गए हैं। जबकि ईवीएम मतों की गिनती के लिए सभी विधानसभा में के अलग-अलग काउंटिंग हॉल में 14-14 टेबल लगाया गया है।

बेगूसराय।। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मंगलवार को सुबह ठीक आठ बजे जिले के सभी सातों विधानसभा क्षेत्र की मतगणना शुरू हो गई। पहले सेवा मत एवं पोस्टल बैलट से प्राप्त मतों की गिनती शुरू हुई। उसके बाद साढ़े आठ बजे से ईवीएम से प्राप्त मतों की गिनती की जा रही है।

सेवा मतों की गिनती के लिए जिले के तीनों मतगणना केंद्र पर विधानसभा वार तीन-तीन टेबल पर लगाए गए हैं। जबकि ईवीएम मतों की गिनती के लिए सभी विधानसभा में के अलग-अलग काउंटिंग हॉल में 14-14 टेबल लगाया गया है।

टेबल पर पर्यवेक्षक के अलावे पर्याप्त संख्या में कर्मी मौजूद हैं। बज्रगृह से क्रमवार तरीके से ईवीएम लाया जा रहा है। मतगणना को लेकर मटिहानी विधानसभा क्षेत्र को संवेदनशील घोषित किया गया है।

जिले भर में सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। मतगणना केंद्र के बाहर से लेकर अंदर तक कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। प्रवेश द्वार पर गहन जांच के बाद ही अंदर जाने दिया जा रहा है।सीसीटीवी से चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है।

लगाए गए हैं 64 मजिस्ट्रेट और पुलिस पदाधिकारी–

जिला मुख्यालय के कृषि उत्पादन बाजार समिति पांच विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना हो रही है। जहां विधि व्यवस्था एवं यातायात व्यवस्था संधारण के लिए 34 जगहों पर मजिस्ट्रेट एवं पुलिस पदाधिकारी के साथ सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। वहीं, आरकेसी उच्च विद्यालय बरौनी में मतगणना केंद्र के संबंधित क्षेत्र में 12 जगहों तथा एपीएसएम कॉलेज बरौनी मतगणना केंद्र के संबंधित 18 जगहों पर मजिस्ट्रेट एवं पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में पुलिस बल अहले सुबह से ही तैनात हैं।

अहले सुबह से ही अलर्ट मोड में हैं जिले के सभी थाने–

पूर्व के चुनावों में परिणाम घोषित होने के बाद विभिन्न प्रत्याशियों तथा समर्थकों के बीच उत्पन्न होने वाले तनाव तथा इस तनाव का लाभ उठाकर असामाजिक तत्वों द्वारा किए जाने वाले घटना के मद्देनजर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड में है। सभी एसडीओ, डीएसपी, बीडीओ, सीओ एवं थानाध्यक्ष को अलर्ट रहने को कहा गया है। 11 नवम्बर तक सभी अपने-अपने क्षेत्र में विशेष निगरानी करेंगे तथा एसडीओ को स्थिति का आकलन पर संवेदनशील स्थानों पर दंडाधिकारी एवं पुलिस बल को नियुक्त करने का आदेश दिया गया है। प्रत्याशी एवं उनके समर्थकों के इलाके, दो प्रत्याशी वाले गांव तथा उम्मीदवार के समर्थकों में पूर्व के तनाव वाले जगह पर विशेष निगरानी रखी जा रही है।

संवेदनशील मटिहानी के चप्पे-चप्पे पर रखी जा रही है नजर–

यूं तो जिले के सातों विधानसभा क्षेत्र कड़ी चौकसी में हैं। लेकिन मटिहानी विधानसभा क्षेत्र को लॉ एंड ऑर्डर की दृष्टिकोण से संवेदनशील माना है। स्पेशल ब्रांच के एडीजी के निर्देशानुसार इस क्षेत्र में विशेष निगरानी की जा रही है। यहां चुनावी रंजिश में मतगणना के दौरान या उसके बाद हिंसक घटनाएं हो सकती है। इसलिए ना सिर्फ मतगणना केंद्र पर बल्कि मटिहानी क्षेत्र के चौक-चौराहों पर भी सुरक्षा की विशेष व्यवस्था की गई है। विशेष शाखा पदाधिकारी को मतगणना केंद्र के आसपास नजर रखने और आसूचना संकलन कर रिपोर्ट करने को कहा गया है। वे डीएम और एसपी के साथ ही पुलिस मुख्यालय में भी स्पेशल ब्रांच के पदाधिकारी को सूचित करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button