सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से हटाए गए कथित ‘भड़काऊ पोस्ट’ आम जनता में गुस्सा

नई दिल्ली। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से कथित ‘भड़काऊ पोस्ट’ हटाने के आदेश के बाद पर तेजी से अमल हुआ है। सरकार के आदेश के बाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने अपने साइट से सौ से अधिक पोस्ट को हटा दिए हैं, जिनमे तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के आधिकारिक फेसबुक पेज से भी कुछ पोस्ट को हटाया गया है। ट्विटर के एक प्रवक्ता के मुताबिक़ कंपनी जायज कानूनी आग्रहों पर इस तरह की कार्रवाई करती है। इस कदम से केंद्र सरकार विपक्ष के साथ ही आम जनता के भी निशाने पर आ गई है।

सूत्रों के मुताबिक़ कोविड संबंधी ऐसी पोस्ट जिनमें श्मशान की उकसाने वाली तस्वीरें और संदेश हैं, जो लोगों को भड़का सकती हैं। उन्हें हटा दिया गया है। सरकार के इस आदेश के बाद ममता बनर्जी के अलांवा कांग्रेस सांसद आर रेड्डी, टीएमसी के मलय घटक, पश्चिम बंगाल के एक राज्यमंत्री, दो फिल्म निर्माता विनोद कापड़ी और अविनाश दास के सोशल मीडिया अकाउंट से भी कुछ पोस्ट को हटाया गया है।

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलो सेन हाहाकार मचा है। ऑस्पताल से लेकर शमशान तक लंबी-लंबी कतारे लगी हैं। लोगों को अस्पतालो में बेड नहीं मिल रहा है। हजारों लोग ऑक्सीजन के बिना मरने को मजबूर हैं। दिल्ली, लखनऊ, मुंबई समेत देश के लगभग सभी महानगरों में हालात बेकाबू हो चुके हैं।

इन हालातों के बीच केंद्र सरकार और यूपी सरकार लगातार दावे कर रही है कि हालात सुधारने के लिए हर संभव कार्य किए जा रहे हैं। जबकि हालात सरकार के दावों के विपरीत हैं। संकट की इस घड़ी में लोग इस संकट में सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं। फेसबुक और ट्विटर आदि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लोग एक दूसरे से मदद और सूचना मांग रहे हैं। इसमें सरकार की भी जमकर आलोचना हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button