अवध महोत्सव : ‘सुल्ताना डाकू’ में दिखा नौटंकी का पुराना अंदाज

स्वाति रिजवी ने 'जब तेरी रहगुजर से गुजरे हैं...' 'हाले दिल तुमको सुनाते जाएंगे' गजलें सुनाई। देवेश चतुर्वेदी ने बच्चन की रचना-इस पार मधु है तुम हो सहित कई साहित्यिक रचनाएं सुनाई, जिसे श्रोताओं ने खूब सराहा।

लखनऊ। कभी नौटंकी देखने के लिए दूर दराज से लोग जुटते थे। मनोरंजन के नए साधनों ने नौटंकी का लोगों में वह आकर्षण तो कम कर दिया, लेकिन नौटंकी का पुराना अंदाज आज भी अपना असर छोड़ता है। नौटंकी की पहली महिला कलाकार गुलाब बाई की बेटी मधु अग्रवाल ने अवध महोत्सव में नौटंकी का पुराना अंदाज जगाने की कोशिश की।

अवध महोत्सव में पधारी मधु अग्रवाल ने ‘सुल्ताना डाकू’ में सुल्ताना डाकू की कथा प्रस्तुत की। यह कथा लोगों की मदद करने और पुलिस को छकाने के लिए भी लोकप्रिय था।

स्वाति रिजवी ने ‘जब तेरी रहगुजर से गुजरे हैं…’ ‘हाले दिल तुमको सुनाते जाएंगे’ गजलें सुनाई। देवेश चतुर्वेदी ने बच्चन की रचना-इस पार मधु है तुम हो सहित कई साहित्यिक रचनाएं सुनाई, जिसे श्रोताओं ने खूब सराहा।

इसी तरह महोत्सव में विश्व कठपुतली दिवस पर विशेष आयोजन किया गया। अन्वित , अजय ,रिद्धी ,सिद्धि , आश्रुत अचिंत्य , सुभग अवस्थी ने कठपुतली का प्रदर्शन किया। कठपुतली प्रदर्शन ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

‘रोशन चौकी’ से रोशन हुआ अवध महोत्सव, विरासत को सहेजने के प्रयास को कला प्रेमियों का मिला प्रोत्साहन

बाल एवं युवा मंच पर अवधी लिबास का प्रदर्शन से कार्यक्रम का प्रारंभ हुआ। तब्बसुम खान के निर्देशन मे लखनवी बेगम और नवाबो के रूप में मोनिस सिद्दिकी,मो. मोइन खान, फैसल मिर्ज़ा, सुरेन्द्र रावत, मो आरिफ, मो सादिक मोनिस सीद्दिकी, मुस्कान इमरान, शहिस्ता बानो तमन्ना अख्तर लारेब नफ़ीस मंच पर आये। कानपुर से काव्या चतुर्वेदी, विनीत निगम नन्दिनी, शलिनी, वन्दना, वरन्या मेहरोत्रा,नव्या वाष्नेय, रिद्धि, ,सिद्धि ने खुबसूरत अवधी लोक नृत्य की प्रस्तुति दी।

अवध महोत्सव में दिखे अवध की संस्कृति के रंग, शहनाई की मंगलध्वनि से उत्सव का प्रारंभ

अवधी कहानी विधा में कथा रंग से नूतन वशिष्ठ, सत्य प्रकाश और आंशु गुप्त के साथ अवधी कहानी आत्माराम का पाठ किया । बाराबंकी, हरदोई, उन्नाव और सीतापुर के अमन सोनी सुधांशु, पल्लवी निगम अदिति वर्मा, देवांश, कुमुद पान्डेय, आनन्द , प्रीति परिहार,अ म्बुज अग्रवाल ने अवधी लोक गीतो की प्रस्तुति से लोगो को आनन्द विभोर किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button