यूपी के इस इलाके में चल रहा था जाली नोटों का धंधा, मां-बेटी समेत 4 अरेस्ट

आरोपितों के कब्जे से लगभग साढ़े पांच लाख रुपए की नकली करेंसी बरामद की गई है।

मेरठ॥ गंगानगर पुलिस ने उप्र और एनसीआर में खपाई जा रही नकली करेंसी का खुलासा करते हुए मां-बेटी समेत चार बदमाशों को अरेस्ट किया है। आरोपितों के कब्जे से लगभग साढ़े पांच लाख रुपए की नकली करेंसी बरामद की गई है।

money note

पूछताछ के दौरान खुलासा हुआ है कि नकली नोटों का यह पूरा गोरखधंधा गाजियाबाद जेल में बंद केरल के एक शातिर बदमाश की सरपरस्ती में संचालित हो रहा था। एसपी देहात केशव कुमार ने मंगलवार को पुलिस लाइन में पत्रकार में जाली नोट छापने वाले इस गिरोह का खुलासा किया।

उन्होंने बताया कि गंगानगर पुलिस ने बक्सर टेंपो स्टैंड के पास से सुमन और उसकी बेटी माही को अरेस्ट किया। मां-बेटी के पास से भारी मात्रा में पांच सौ और दो सौ की नकली करेंसी बरामद हुई। पकड़ी गई महिलाओं से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने सुभाष नगर स्थित एक किराए के मकान में दबिश देकर सिवाया निवासी रोबिन और पिलखुआ निवासी सिकंदर को भी अरेस्ट किया।

पुलिस को मौके से नोट छापने का प्रिंटर और भारी मात्रा में अधछपी करेंसी समेत पांच लाख 33 हजार छह सौ रुपए के नकली नोट भी बरामद हुए। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि वह नकली नोट छाप कर उन्हें दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में छोटी-मोटी दुकानों पर चलाया करते थे।

आरोपितों ने बताया कि उनके गिरोह का सरगना मूल रूप से केरल निवासी प्रशांत उर्फ विराट है। एसपी देहात के मुताबिक, प्रशांत नकली करेंसी छापने के मामले में फिलहाल गाजियाबाद की जेल में बंद है। पुलिस के मुताबिक पकड़े गए चारों आरोपितों को जेल भेजा जा रहा है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button