CM त्रिवेन्द सिंह रावत ने केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री से की मुलाकात, कई राष्ट्रीय राजमार्गों को लेकर हुई चर्चा

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि रुद्रप्रयाग टनल निर्माण के लिए लगभग 225 करोड़ रुपये स्वीकृत हो गए हैं।

नई दिल्ली।। उत्तराखंड के CM त्रिवेन्द सिंह रावत ने मंगलवार को यहां केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। इस दौरान CM के अनुरोध पर केंद्रीय मंत्री ने आईएसबीटी, देहरादून बस अड्डा की सड़क परियोजना के लिए 48 करोड़ रुपये की स्वीकृति पर सहमति दी।

CM ने उत्तराखण्ड में रोड कनेक्टीविटी के विकास में महत्वपूर्ण सहयोग के लिए केंद्रीय मंत्री का आभार व्यक्त किया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि रुद्रप्रयाग टनल निर्माण के लिए लगभग 225 करोड़ रुपये स्वीकृत हो गए हैं। इस पर आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी गई है। इसके साथ ही उत्तराखण्ड में नए राष्ट्रीय राजमार्ग में बाईपास की गई पुरानी सड़कों के सुदृढ़ीकरण के लिए भी 69 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हरिद्वार-देहरादून एनएच पर जोगीवाला में जाम की समस्या को दूर करने पर सहमति व्यक्त करते हुए राज्य सरकार से इसका प्रस्ताव जल्द भेजने को कहा। CM ने कहा कि ऋषिकेश-भानियावाला मोटर मार्ग चारधाम यात्रा में शॉर्ट लिंक मार्ग है। जौलीग्रांट एयरपोर्ट भी ऋषिकेश भानियावाला के मध्य स्थित है । वर्तमान में यह केवल दो लेन मार्ग है। इस मार्ग के व्यापक महत्व को देखते हुए मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री से इसे राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किए जाने का अनुरोध किया।

CM ने वित्तीय वर्ष 2020-21 में केंद्रीय सड़क व अवस्थापना निधि के अंतर्गत मंत्रालय को प्रेषित 219 करोड़ रुपये के प्रस्तावों की शीघ्र स्वीकृति का अनुरोध किया। CM ने कहा कि उत्तराखण्ड में 6 राजमार्गो (कुल लम्बाई 524 किमी) को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किए जाने की सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की गई है। इनमें लक्ष्मणझूला-दुगड्डा-नैनीडाडा-मोहन- रानीखेत (274 किमी), पाण्डुआखाल -नागचूलाखाल उफरैखाल-बैजरो (64 किमी), खैरना-रानीखेत (34 किमी). बुआखाल-देवप्रयाग (49 किमी). देवप्रयाग-गजा-खाड़ी (70 किमी), बिहारीगढ़-रोशनाबाद (33 किमी) शामिल हैं।

CM ने इन्हें जल्द से जल्द राष्ट्रीय राजमार्ग के रूप में अधिसूचित किये जाने का अनुरोध किया। बैठक में उत्तराखण्ड के प्रमुख सचिव आरके सुधांशु, सचिव राधिका झा, CM के विशेष सचिव डा पराग मधुकर धकाते व केंद्र सरकार के अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button