किसानों पर CM Yogi ने बोल दी ये बड़ी बात, कहा-खेती पर कब्जा…

CM Yogi कहा, खेती की लागत कम होने और उत्पादन बढ़ने पर ही आएगी समृद्धि-खुशहाली, मुख्यमंत्री ने अयोध्या में 89.90 करोड़ की 40 विकास परियोजनाओं का किया लोकार्पण-शिलान्यास

लखनऊ/अयोध्या। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने किसान आन्दोलन को लेकर विपक्ष पर एक बार फिर झूठ फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जिन्हें विकास पसंद नहीं वे किसानों को गुमराह करने के लिए भ्रम पैदा कर रहे हैं, एक ही झूठ बार-बार बोल रहे हैं। किसान की खेती पर कोई कब्जा नहीं कर सकता। यह तो आपसी सहमति का मामला है। उन्होंने कहा कि वहीं समृद्धि एवं खुशहाली का मार्ग तभी आएगा, जब खेती की लागत कम होगी और उत्पादन बढ़ेगा।
yogi

40 परियोजनाओं का लोकार्पण शिलान्यास किया

मुख्यमंत्री (CM Yogi) रविवार को अयोध्या में जनपद अयोध्या, गोरखपुर, बस्ती, बहराइच, बाराबंकी, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, अम्बेडकरनगर, अमेठी, सुलतानपुर, जौनपुर, गाजीपुर, मऊ, चंदौली और सोनभद्र की 89.90 करोड़ की कृषि, कृषि विज्ञान एवं अनुसंधान, पशुपालन, मत्स्य पालन, सिंचाई आदि की 40 परियोजनाओं का लोकार्पण शिलान्यास कार्यक्रम में बोल रहे थे।
इस मौके पर उन्होंने प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लाभार्थियों को ऋण, श्रम विभाग के लाभार्थियों को सहायता राशि, महिला स्वयं सहायता समूह को सहायता राशि व सामुदायिक शौचालय अधिकार प्रमाण पत्र के साथ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड और कृषि यंत्रों पर सब्सिडी का वितरण किया। इस दौरान उन्होंने किसानों से संवाद भी किया

नरेंद्र देव कृषि विवि किसानों की आय को दोगुना करने के लिए कर रहा कार्य

मुख्यमंत्री (CM Yogi) ने आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय में किसान मेला का उद्घाटन भी किया। उन्होंने कहा कि आचार्य नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय न केवल विवि परिसर के विकास के लिए प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रहा है, बल्कि नए कृषि विज्ञान केंद्रों की स्थापना व पहले से चल रहे कृषि विज्ञान केंद्रों को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित करने का कार्य भी कर रहा है। इसके साथ ही आचार्य नरेंद्र देव कृषि विवि किसानों की आय को दोगुना करने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रहा है।

अन्नदाता के जीवन में खुशहाली और समृद्धि लाना है लक्ष्य

उन्होंने (CM Yogi) कहा कि किसानों को आर्थिक रूप से सम्पन्न बनाने की संकल्पना को पूर्ण करने के लिए लगभग 90 करोड़ की परियोजनाओं का यहां पर लोकार्पण और शिलान्यास कार्यक्रम एक साथ हो रहा है। मैं, इसके लिए आप सभी को हृदय से बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि इन सभी कार्यों का लक्ष्य अपने अन्नदाता के जीवन में खुशहाली और समृद्धि लाना है।

खेत से लेकर खलियान तक, बीज से लेकर बाजार तक चेन जोड़ने का होगा कार्य

(CM Yogi)समृद्धि एवं खुशहाली का मार्ग तभी आएगा, जब खेती की लागत कम होगी और उत्पादन बढ़ेगा। किसान को खेत से लेकर खलियान तक, बीज से लेकर बाजार तक एक चेन के साथ जोड़ने का कार्य होगा। उन्होंने कहा कि जब किसान को नई तकनीक, समय पर बीज और खाद, समय पर कृषि वैज्ञानिकों की उचित सलाह और सहयोग प्राप्त होगा, तो हमारा अन्नदाता किसान वह सब करने का सामर्थ्य रखता है, जो देश उनसे अपेक्षा रखता है।

योजनाओं को तकनीक से जोड़कर परिवर्तन लाने का हो रहा कार्य

मुख्यमंत्री (CM Yogi)ने कहा कि तकनीकी जानकारी होना आज के समय की बहुत बड़ी उपलब्धि है। आज सरकार, सभी योजनाओं को तकनीक के साथ जोड़कर किसान, श्रमिक और सामान्य नागरिक के जीवन में कैसे परिवर्तन लाने का कार्य कर रही है। किसानों के जीवन में खुशहाली लाना हम सबका दायित्व है। यही कारण है कि सरकार बनने के बाद पहली कैबिनेट की बैठक में प्रदेश के किसानों को एक लाख तक के ऋण से मुक्त कराकर उनके जीवन में खुशहाली लाने का कार्य किया गया।

2.30 करोड़ किसानों को 22 हजार करोड़ से अधिक की राशि की हस्तांतरित

उन्होंने (CM Yogi) कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों के लिए पीएम किसान सम्मान निधि की घोषणा की। उस दौरान कहा गया कि यह चुनावी शिगूफा है। लेकिन, उत्तर प्रदेश में ही अब तक 2.30 करोड़ किसानों को 22 हजार करोड़ से अधिक की राशि उनके खातों में हस्तांतरित की गई है।

पीएम किसान सम्मान निधि में 2.30 करोड़ किसान उप्र के

उन्होंने (CM Yogi)कहा कि आगामी 25 दिसम्बर को प्रधानमंत्री मोदी 09 करोड़ किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 18 हजार करोड़ एकसाथ उनके खातों में देने का कार्य करेंगे। इसमें 2.30 करोड़ किसान उत्तर प्रदेश के हैं। कुछ लोग किसानों को गुमराह करने के लिए कई प्रकार के भ्रम पैदा कर रहे हैं, एक ही झूठ बार-बार बोल रहे हैं।
जिन्हें जनता पूरी तरह से नकार चुकी है, वह गुमराह कर देश का माहौल खराब करने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन, जागरूक जनता उनके बहकावे में नहीं आएगी। देश के किसानों का प्रधानमंत्री मोदी पर अटूट विश्वास है। यही कारण है कि बड़े-बड़े किसान सम्मेलनों के माध्यम से किसान पूरी तरह से प्रधानमंत्री का समर्थन करते हुए दिखाई दे रहे हैं।
इस राज्य में शिक्षकों को मिलेगा प्रशिक्षण, 22 दिसंबर से शुरू होगा बेबिनार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button