योगी सरकार पर कांग्रेस का हमला, सुप्रिया श्रीनेत ने कहा – गंगा में तैर रहे हैं बेजुबान आंकड़े

नई दिल्ली। कोरोना त्रासदी और उससे हो रही मौतों को लेकर कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने हैं। कांग्रेस केंद्र व यूपी सरकार पर कोरोना संक्रमण से निपटने में नाकाम रहने का आरोप लगाते हुए रोजाना हमले कर रही है। इस क्रम मर मंगलवार को कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर राज्य में कोरोना से मौत के आंकड़ों को छिपाने का आरोप लगाया है। वहीँ बीजेपी ने कांग्रेस पर पीएम मोदी की छवि खराब करने का आरोप लगाया है।

मंगलवार को मीडिया से मुखातिब कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि केंद्र सरकार और कुछ राज्य सरकारें मौत के आंकड़ों को छिपा रही हैं। यूपी की राजधानी लखनऊ का उदाहरण देते हुए सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक लखनऊ में कोरोना संक्रमण से 2,268 लोगों की मौतें हुई हैं, लेकिन पिछले डेढ़ महीने अर्थात पहली अप्रैल से 15 मई तक के आंकड़े कुछ और ही सच्चाई बयां कर रहे हैं। इसी तरह यदि15 फरवरी से 31 मार्च तक के आंकड़ों की तुलना की जाए तो 2,000 अतिरिक्त मृत्यु प्रमाणपत्र जारी हुए हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक एक अप्रैल से 15 मई तक 7,890 मृत्यु प्रमाणपत्र और 15 फरवरी से 31 मार्च तक 5,970 मृत्यु प्रमाणपत्र जारी किये गये थे। अर्थात एक अप्रैल से 15 मई तक दो हजार अतिरिक्त मृत्यु प्रमाणपत्र लखनऊ में जारी हुए हैं। लेकिन सरकार इस 2000 अतिरिक्त मृत्यु प्रमाणपत्र को कोरोना से हुई मौत मानने से ही इंकार कर रही है।

कांग्रेस ने यूपी की योगी सरकार से सवाल किया कि लखनऊ में मौत के आंकड़ों को क्यों छिपाया जा रहा है ? श्रीनेत ने कहा कि प्रदेश के सीएम योगी कहते हैं कि सबकुछ काबू में हैं, लेकिन गंगा नदी में बेजुबान आंकड़े तैर रहे हैं। इसी तरह सीएलपी लीडर आराधना मिश्रा ने आरोप लगाया कि यूपी की योगी सरकार का पूरा ध्यान कोरोना के अलावा आंकड़े छिपाने पर है।

सीएलपी लीडर आराधना मिश्रा ने कहा कि लोग जानना चाहते हैं कि लखनऊ नगर निगम को मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने के अधिकार को सीएमओ के संरक्षण में क्यों दिया गया ? सीएलपी लीडर ने कहा कि ये फैसला आंकड़ों को छिपाने के लिये ही किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button