अहमदाबाद में कोरोना की रफ्तार फिर बढ़ी, निजी अस्पताल ‘हाउसफुल’

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों को नजर डालें तो पिछले10-12 दिनों से कोरोना मामले फिर बढ़ने लगे हैं। प्रतिदिन लगभग 180 मामले सामने आ रहे है।

अहमदाबाद।। अहमदाबाद में कोरोना का प्रकोप एक बार फिर बढ़ने लगा है। इसका सबसे बड़ा कारण लोग कोरोना संबंधी दिशा निर्देशों का पालन करने में लगातार लापरवाही बरत रहे हैं।अहमदाबादियों को अब ‘सब-सुरक्षित’ संदेश के बीच संबंधी दिशा निर्देशों का पालन करना होगा अन्यथा गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

 

 

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों को नजर डालें तो पिछले10-12 दिनों से कोरोना मामले फिर बढ़ने लगे हैं। प्रतिदिन लगभग 180 मामले सामने आ रहे है। यदि अहमदाबादवासियों ने काेरोना संबंधी दिशा निर्देशों का पालन नहीं किया तो स्थिति भयावह हो सकती है। मुंबई-पुणे जैसे शहर इसका प्रमुख उदाहरण हैं।

अहमदाबाद हॉस्पिटल्स एंड नर्सिंग होम्स एसोसिएशन (एएचएनआई) के अनुसार वेंटिलेटर सपोर्ट वाले आईसीयू श्रेणी के केवल आईसीयू बेड अहमदाबाद के निजी कोविड अस्पतालों में खाली हैं। 89 फीसदी बिस्तर भरे हुए हैं। 28 सितम्बर तक निजी अस्पतालों में अधिकांश बेड भरे जा चुके हैं।

अहमदाबाद हॉस्पिटल्स एंड रिन्यूएबल होम्स एसोसिएशन ने नागरिकों के लिए चेतावनी के आंकड़े जारी किए गए हैं। कुल 1820 बिस्तरों में से 1516 बिस्तर भरे हुए हैं, बमुश्किल 304 बिस्तर खाली हैं। चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े संघ के अध्यक्ष डॉ. भरत गढ़वी ने कहा कि अहमदाबाद शहर के 6 कोविड अस्पतालों में अधिकांश बेड भरे जा चुके हैं, वेंटिलेटर वाले आईसीयू बेड की संख्या 147 है, जिनमें से 131 भरे जा चुके हैं, बमुश्किल 16 बेड खाली हैं यानी 89 फीसदी बेड भरे जा चुके हैं।

नगर में कोरोना मामलों की संख्या बढ़ रही है, जो चिंता का विषय है। आंकड़ों से पता चलता है कि अहमदाबाद शहर की स्थिति एक बार फिर गंभीर हो रही है। अहमदाबाद के निजी अस्पतालों में एएमसी श्रेणी के आईसीयू में वेंटीलेटर खाली नहीं हैं।सरकार को निजी अस्पतालों में अधिक वेंटिलेटर उपलब्ध कराने होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button