उत्तराखंड- बर्फबारी से दर्जनों सड़कें बंद, वनों में भड़की आग बुझी

क ओर जहां वन विभाग ने राहत की सांस ली है वहीं बर्फबारी से जिले की दर्जनभर सड़के बंद हो गई हैं।

उत्तराखंड॥ पहाड़ों में बर्फबारी से मैदानी इलाकों में ठिठुरन बढ़ गई है। उत्तरकाशी के वनों में भड़की आग सोमवार को रिमझिम बारिश एवं बर्फबारी से बुझ गई है। इससे एक ओर जहां वन विभाग ने राहत की सांस ली है वहीं बर्फबारी से जिले की दर्जनभर सड़के बंद हो गई हैं।

Uttarkashi news ,Snow Fall

सोमवार को ऊंचाई वाले इलाकों में सीजन की तीसरी बर्फबारी शुरू हो गई है। इससे भटवाड़ी से गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग बर्फ से पूरी तरह से बंद हो गया । धरासू-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग राडी टॉप पर बर्फ से अवरुद्ध हो गया है। उधर कफनौल, सरनौल एवं मोरी के कई लिंक मार्ग बंद हो गये हैं। प्रशासन ने एनएच एवं मार्गों को खोलने के लिए मशीनें मौके पर रवाना कर दी हैं।

पहाड़ों मे शीतकाल के समय पिछले तीन दिनों से निरंतर वनों मे आग भड़की थी, जिससे चारों ओर धुआं ही धुआं दिखाई दे रहा था। सोमवार को सीजन की पहली बर्फबारी हुई, जिससे ठंड बढ़ गई। बारिश के साथ हल्की बर्फबारी हुई। हर्षिल, धराली, दयारा, चौरंगी, खरसाली, मोरी के सीमावर्ती क्षेत्रों में देर रात को जमकर बारिश हुई और फिर हल्की बर्फ भी पड़ी। एक ओर जहां स्थानीय लोग घरों में कैद हो गए वहीं पर्यटक होटलों से बाहर निकलकर बर्फबारी का लुत्फ उठा रहे हैं।

नववर्ष से पहले पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी से कारोबारियों में भी उम्मीद जगने लगी है। मौसम विभाग की मानें तो ऊंचाई वाले क्षेत्रों में अभी और बारिश तथा बर्फबारी का अनुमान है। उधर, मसूरी में पुलिस-प्रशासन ने सारी तैयारियां कर ली हैं ताकि सैलानियों को परेशानियों का सामना न करना पड़े।

उत्तराखंड मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि आज और कल पहाड़ी जिलों में बर्फबारी और मैदानी जिलों में बारिश होगी। मौसम विभाग ने कहा है कि बर्फबारी की वजह से पहाड़ों में चट्टानें खिसक सकती हैं और रास्ता जाम हो सकता है। पहाड़ी जिलों के स्थानीय प्रशासन ने सैलानियों को सावधानी बरतने की सलाह दी है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button