इस राज्य में भी लगा साप्ताहिक लॉकडाउन, लोगों ने खुद को घरों में किया कैद

रविवार सुबह से राजधानी देहरादून सहित प्रदेश भर में संक्रमण रोकथाम के लिए पुलिस सड़कों पर दौड़ती रही। सुबह एकाध लोगों को छोड़ दिया जाए तो सड़कों पर दोपहर जाते-जाते पूरी तरह सन्नाटा छा गया।

देहरादून।। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों कों लेकर रविवार कों देहरादून सहित प्रदेश भर में साप्ताहिक लाकडाउन के तहत लोग घरों में ही रहे। इस दौरान कुछ वाहनों और राहगीरों को छोड़ दिया जाए तो सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। अनाश्यक घूमने वालें का पुलिस ने चालान भी काटा। इसके अलावा लाकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस और सुरक्षा के जवान चौराहों में मुस्तैद रहे। यह व्यवस्था 30 अप्रैल तक जारी रहेगी। वहीं देरादून में दो दिन शनिवार और रविवार दो दिन साप्ताहिक बंदी रहेगी।

रविवार सुबह से राजधानी देहरादून सहित प्रदेश भर में संक्रमण रोकथाम के लिए पुलिस सड़कों पर दौड़ती रही। सुबह एकाध लोगों को छोड़ दिया जाए तो सड़कों पर दोपहर जाते-जाते पूरी तरह सन्नाटा छा गया। पहाड़ी जनपदों के शहरों में साप्ताहिक बंदी का ज्यादा असर देखने को मिला। देहरादून में सड़कों और गली मोहल्लों में लोग घूमते नजर आए। जैसे ही पुलिस की गाड़ी के सायरन की आवाज सुनाई पड़ी लोग घरों की ओर से भागते नजर आए।

गढ़वाल के साथ कुमाऊं मंडल में भी संक्रमण बचाव के लए बंदी को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन चौकस है। बंदी के दिन शहर में निगम और नगर पालिका प्रशसन की ओर सेनेटाइजेशन का कार्य भी किया गया। देहरादून के घंटा घर स्थित पलटन बाजार में स्मार्ट सिटी का निर्माण कार्य दिन में किया जा रहै है। वहीं घंटाघर स्थित अंबेडकर पार्क में कोविड टेस्ट के लिए शिविर भी लगाए गए।

साप्ताहिक कर्फ्यू में आवश्वयक सेवा की छूट रही। जरूरत की चीजों और आवश्क सेवा से संबंधित सरकारी और गैर सरकारी दुकानें खुली रहीं। वहीं, आवागमन सशर्त और अनुमति के अधीन जारी रहा। एनडीए परीक्षा में शामिल परीक्षार्थियों का मुख्यमंत्री के निर्देश को ध्यान में रखते हुए सुविधा का पूरा ख्याल रखा गया। छात्रों को लेकर परीक्षा केन्द्र पर आने-जाने वाले वाहनों की छूट दी गई।

इस दौरान पुलिस-प्रशासन की ओर से कोरोना के मामले तेजी से बढ़ मामले के प्रति लोगों को जागरूक भी किया गया। लोगों को मास्क पहनने व शारीरिक दूरी का अनुपालन सुनिश्चित कराने को कहा। देहरादून स्थित घंटाघर पर पुलिस ने हर एक वाहन की चेकिंग की। बिना कारण बाहर निकले लोगों को वापस लौटाया जा रहा है। कोरोना नियमों को उल्लंघन पर पुलिस चालान की कार्रवाई भी तेजी से कर रही है। जिलाधिकारी डा. आषीश वास्त सहित पुलिस प्रशासन के अधिकारी लगातार शहर के भ्रमण करते नजर आए।

जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि एनडीए और एनए की परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थी और केंद्रों में तैनात स्टाफ, उनके लोगों को आने जाने वाले सार्वजनिक वाहनों से परीक्षा केन्द्रों पर भेजा गया है। देहरादून के 37 केंद्रों पर संघ लोक सेवा आयोग की ओर से एनडीए और एनए की परीक्षा आयोजित हुई है। परीक्षा सुबह 10 से शाम साढ़े चार बजे तक होनी है।

देहरादून की एसपी सिटी सरिता डोभाल ने बताया कि संक्रमण रोकथाम के लिए साप्ताहिक बंदी को पूरी तरह से पालन को लेकर पुलिस मुस्तैद है। आमजनों को बताया जा रहा है कि अनावश्यक घरों से बाहर न निकलें। इसके बावजूद नियमों के उल्लंघन करते पाए जाने पर पुलिस सख्ती के साथ कार्रवाई कर रही है। बेवजह घूमने वालों का चालान भी काटा जा रहा है।इन सेवाओं को छूट।

साप्ताहिक बंदी और रात्रि कर्फ्यू में चिकित्सा, फल-सब्जी, दूध, पेट्रोल और गैस आपूर्ति से जुड़े वाहन के साथ ही दवा की दुकानें, पेट्रोल पंप को छूट दी गई है। हवाई जहाज, ट्रेन और बस से यात्रा करने वालों और सार्वजनिक हित के निर्माण कार्यों और उसमें काम करने वाले कार्मिकों व मजदूरों को आवागमन में राहत दी गई है। इसके अलावा औद्योगिक क्षेत्र में कार्यरत कार्मिकों को आई कार्ड दिखाने पर जाने दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button