UP में पहले आओ और पहले पाओ की नीति से लगेगा कोरोना का टीका, जानें क्या है दिशा- निर्देश

विभाग के मुताबिक पहले आओ और पहले पाओ की नीति पर आमजन को एक मार्च से वैक्सीन लगना शुरु हो जाएगी।

कानपुर।। वैश्विक महामारी कोरोना के खात्मे को लेकर वैक्सीन के टीकाकरण का लाभ जल्द ही आमजन को मिलने वाला है। इसको लेकर जनपद में तैयारियां तेज कर दी गयी हैं और सोमवार को स्वास्थ्य विभाग बैठक कर खाका खीचेगा।

विभाग के मुताबिक पहले आओ और पहले पाओ की नीति पर आमजन को एक मार्च से वैक्सीन लगना शुरु हो जाएगी। इसके लिए आमजन को आनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा और उनका नजदीक के ​निजी व सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण होगा। हालांकि सरकारी अस्पतालों में टीका मुफ्त लगेगा तो वहीं निजी अस्पतालों में आमजन को 250 खर्च करना होगा।

केन्द्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारत में ही इजाद की कोरोना की दोनों प्रकार की वैक्सीनों से आमजन को लाभ पहुंचाने का निर्णय लिया है। मंत्रालय ने इसके लिए गाइड लाइन जारी कर दी है और कानपुर का स्वास्थ्य विभाग आमजन के टीकाकरण को लेकर तैयारियां तेज कर दी है।

अपर निदेशक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा डा. गिरीश कुमार मिश्रा ने रविवार को बताया कि आम नागरिकों को एक मार्च से कोविड का टीका लगना शुरु हो जाएगा। शुरु में 60 साल से ज्‍यादा उम्र वालों तथा 45 साल से अधिक आयु वाले जिन्‍हें को-मॉर्बिडिटीज हैं, उन्‍हें टीका लगेगा।

इस चरण में सरकारी के अलावा निजी क्षेत्र के अस्पतालों को भी शामिल किया गया है। सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण मुफ्त में किया जाएगा तो वहीं निजी अस्पतालों में आमजन को 250 रुपये खर्च करना होगा। इसके लिए आमजन को पहले कोविन-एप,आरोग्‍य सेतु ऐप और कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

इसके साथ ही वरिष्ठ नागरिकों के लिए फोन से रजिस्‍ट्रेशन का विकल्‍प भी है। इसके लिए उन्हे कॉल सेंटर के नंबर 1507 पर डायल करना होगा। बताया कि कोरोना टीका के लिए पहले आओ पहले पाओ की नीति अपनाई जाएगी, यानी जो पहले रजिस्ट्रेशन कराएगा उसी को पहले टीका लगेगा।

इन लोगों को किया जाएगा शामिल–

एक मार्च से 60 साल से ज्‍यादा उम्र वाला हर नागरिक टीकाकरण के योग्‍य होगा। इसके अलावा 45 साल से ज्‍यादा उम्र वाले ऐसे लोग जिन्‍हें पहले से ऐसी बीमारियां (को-मॉर्बिडिटीज) हैं जिनसे उन्‍हें कोविड-19 का ज्‍यादा खतरा है, वे भी टीका लगवा सकेंगे। शासन ने अभी तक बीमारियों की लिस्‍ट जारी नहीं की है। हालांकि अधिकारियों के अनुसार हाइपरटेंशन, डायबिटीज, कैंसर के अलावा दिल, गुर्दे और फेफड़े से जुड़ी कुछ बीमारियों को भी इसमें शामिल किया जा सकता है।

अपर निदेशक ने बताया कि सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की बैठक होगी और संभावना है कि शासन की ओर से गाइड लाइन भी आ जाएगी। इसी के बाद जनपद और मण्डल में निजी अस्पतालों को चिन्हित करते हुए उनमें कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य तेजी से किया जाएगा।

बताया कि टीकाकरण के लिए शासन ने 12 तरह के पहचान पत्रों की लिस्‍ट जारी की है। इनमें आधार कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍मार्ट कार्ड, पेंशन डॉक्‍युमेंट, बैंक/पोस्‍ट ऑफिस पासबुक, मनरेगा जॉब कार्ड, एमपी/एमएलए/एमएलसी का आईडी कार्ड, सरकारी कर्मचारियों का सर्विस आईडी कार्ड, नेशनल पॉपुलेशन रजिस्‍टर के तहत जारी स्‍मार्ट कार्ड आदि शामिल हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button