लखनऊ में पहुंची रही कोविड-19 वैक्सीन की पहली खेप, ऐसे होगा टीकाकरण

वैक्सीन की पहली खेप आज लखनऊ में प्राप्त होने वाली है। स्टोरेज प्वाइंट पर पुलिस मुस्तैद रहेगी।

उत्तर राज्य॥ राज्य में 16 जनवरी से कोविड-19 वैक्सीन लगाने की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। वैक्सीन की पहली खेप आज लखनऊ में प्राप्त होने वाली है। स्टोरेज प्वाइंट पर पुलिस मुस्तैद रहेगी।

CHINA Corona Vaccine

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को बताया कि बाकी के भी जो राज्य के बड़े स्थान हैं, जहां भंडारण किया जाता है, वैसे आठ और स्थानों के लिए आवंटन प्राप्त हो गया है, जहां पर भी वैक्सीन जल्द प्राप्त होगी। इन सभी स्टेट स्टोर्स से वैक्सीन को जनपदों में भेजा जाएगा। फिर जनपदों से ब्लॉक स्तरीय पीएचसी, सीएचसी जहां कोल्ड चेन के पॉइंट हैं वहां पर ले जाया जाएगा। इसके बाद 16 जनवरी से वेक्सीनेशन का कार्य प्रारम्भ होगा।

उन्होंने बताया कि राज्य में कुल 1,298 ऐसी जगह है जहां पर वेक्सीन को स्टोर किया जाता है। कोरोना वैक्सीन को इन सभी स्थानों पर भेजेंगे और वैक्सीनेशन का कार्य प्रारंभ करेंगे।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य बताया कि बीते 24 घंटे में संक्रमण के 511 नये मामले सामने आये हैं। इसी दौरान इलाज के बाद 789 लोग स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किए गए। वहीं सक्रिय मामलों की संख्या अब घटकर 10,560 हो गई है। राज्य में अब तक संक्रमण से 8,514 लोगों की मौत हुई है।

राज्य में कल एक दिन में कुल 1,29,026 सैम्पल की जांच की गयी। राज्य में अब तक कुल 2,55,69,666 सैम्पल की जांच की गयी है।राज्य में कुल सक्रिय मामलों में से 4,018 लोग होम आइसोलेशन में हैं। वहीं निजी चिकित्सालयों में 1,012 लोग इलाज करा रहे हैं। इसके अतिरिक्त शेष मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक कुल 5,75,101 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। राज्य में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,82,300 क्षेत्रों में 5,05,502 टीम दिवस के माध्यम से 3,12,17,809 घरों के 15,17,49,134 व्यक्तियों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि राज्य में ई-संजीवनी के माध्यम से चौबीस घंटे में 5,055 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। वहीं अब तक कुल 3,80,639 लोग इस सुविधा का प्रयोग लेकर चिकित्सीय परामर्श ले चुके हैं।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य बताया कि राज्य में वैक्सीनेशन के लिए दो बार ड्राई रन किया जा चुका है। अब वैक्सीन सबसे पहले प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों, इसके बाद फ्रंटलाइन कर्मियों जैसे पुलिस कर्मचारी, नगर निगम कर्मचारी, राजस्व विभाग के कर्मचारी और सशक्त बलों के अधिकारी व कर्मचारी तथा उसके बाद 50 वर्ष से अधिक आयु वाले एवं 50 वर्ष से कम आयु वाले जो किसी गम्भीर बीमारी से ग्रस्त है उनको वैक्सीन लगायी जायेगी।

वहीं एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि कोरोना वैक्सीन के स्टोरेज प्वाइंट पर पुलिस व्यवस्था होगी, वहां पर उचित प्रकाश की व्यवस्था समेत अग्निशमन के उपकरण भी होंगे। वैक्सीन के वितरण के दौरान पुलिस गाड़ियों को सुरक्षा देगी। वैक्सीन लगाने वाले सेंटर पर भी पुलिस की टीमें मौजूद रहेंगी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button