उत्तराखंड के पूर्व CM हरीश रावत का बेतुका बयान, कुंभ मेले को लेकर की ये टिप्पणी

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता हरीश रावत ने हरकी पौड़ी पर मां गंगा की पूजा अर्चना कर जमालपुर में रेल दुर्घटना में मारे गए युवकों के लिए तर्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। रावत ने मृतक युवकों के परिजनों से मिलकर सांत्वना भी दी।

हरिद्वार।  पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता हरीश रावत ने हरकी पौड़ी पर मां गंगा की पूजा अर्चना कर जमालपुर में रेल दुर्घटना में मारे गए युवकों के लिए तर्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। रावत ने मृतक युवकों के परिजनों से मिलकर सांत्वना भी दी।
Harish Rawat

कुंभ मेला आज धन अर्जित करने का साधन बन गया

इस दौरान हरीश रावत ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार की गलती से नौजवानों को असमय मौत के आगोश में जाना पड़ा। यदि सरकार गलती न करती तो नौजवान आज हमारे बीच होते। उन्होंने कहा कि कुंभ मेला आज धन अर्जित करने का साधन बन गया है।

जानबूझकर किसानों की मांगों को पूरा नहीं कर रही सरकार

किसान आंदोलन को लेकर हरीश रावत ने कहा कि सरकार जानबूझकर किसानों की मांगों को पूरा नहीं कर रही है। किसान आंदोलन कोई लड़ाई नहीं है। इसमें हार-जीत का कोई मतलब ही नहीं है। यह केवल लोकतंत्र की लड़ाई है, लेकिन सरकार न तो लोकतंत्र को जीतने दे रही है और न ही किसानों की मांगों को पूरा कर रही है।
हरिद्वार कुंभ मेले को लेकर भी रावत ने राज्य सरकार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि कुंभ मेले को कुछ लोगों ने धन अर्जित करने का साधन बना लिया है। सरकार जानबूझकर कुंभ मेले कार्यों को विलंबित कर रही है, ताकि आधे-अधूरेे कार्यों की आड़ में माल कमाया जा सके।

त्रिवेंद्र सिंह रावत की कार्यशैली पर सवाल उठाए

ऐसा करके राज्य सरकार हरिद्वार कुंभ और मां गंगा का अपमान करने का काम कर रही है। हरीश रावत ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की कार्यशैली पर सवाल उठाए। रावत ने कहा कि मोदी सरकार में किसी भी मुख्यमंत्री को काम करने नहीं दिया जा रहा है। जो मुख्यमंत्री मोदी जी का जितना आज्ञाकारी है वह उतना ही नॉन परफॉर्मेंस मुख्यमंत्री है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी उन्हीं मुख्यमंत्री में से एक हैं जो केवल द्विमूर्ति की चरणों में पड़े हुए हैं। यही कारण है कि उनकी परफार्मेंस खराब आई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button