ललित कला अकादमी का स्थापना दिवस समारोह 8 फ़रवरी से, होंगे लोक संस्कृति के कार्यक्रम

लखनऊ। राज्य ललित कला अकादमी का 60वां स्थापना दिवस समारोह 8 से 10 फरवरी तक होगा। इस अवसर पर तीन दिवसीय कला रंग महोत्सव कैसरबाग स्थित अकादमी परिसर में होगा। महोत्सव में वार्षिक कला प्रदर्शनी व अन्य प्रदर्शनियां आयोजित की जायेंगी। अकादमी अध्यक्ष सीताराम कश्यप ने बताया कि विभिन्न प्रदर्शनियों में आये उत्कृष्ट चित्रों को प्रदर्शित किया जायेगा। इसके साथ ही वर्ष भर में आयोजित विभिन्न कला प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया जायेगा।

अकादमी उपाध्यक्ष गिरीश चंद्र मिश्र ने बताया कि कला रंग महोत्सव के तहत तीन दिनों में हर रोज लोक संस्कृति पर आधारित कार्यक्रम होंगे। समारोह के पहले दिन आठ फरवरी को ‘स्वातंत्र्य वीर अर्चन’ चित्रकला शिविर और 34वीं राज्य स्तरीय वार्षिक कला प्रदर्शनी का उद्घाटन होगा। इस अवसर पर नवदुर्गा छवि प्रतियोगिता, भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी पर आधारित प्रदर्शनियों के पुरस्कार दिये जायेंगे। इसके साथ ही प्रदेश की विभिन्न संस्थाओं से आमंत्रित कला प्रदर्शनियों लगाई जायेंगी।

गिरीश चंद्र मिश्र ने बताया कि दूसरे दिन नौ फरवरी को नारी सशक्तिकरण प्रदर्शनी, महात्मा गांधी व लाल बहादुर शास्त्री के विचारों पर आधारित चित्रकला-मूर्तिकला प्रतियोगिता व लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर एकता दिवस विषयक चित्रकला-मूर्तिकला प्रतियोगिता के पुरस्कारों का वितरण होगा। तीसरे दिन समापन समारोह में अखिल भारतीय कोविड-19 कला प्रतियोगिता, लॉक डाउन में बदलता पर्यावरण विषयक प्रतियोगिता व संन्यास से औद्योगिक क्रांति की ओर विषयक अखिल भारतीय शिविर के पुरस्कार दिये जायेंगे।

राज्य ललित कला अकादमी के स्थापना दिवस और चौरी-चौरा शताब्दी समारोह के अवसर पर कल शुरु हुए ‘स्वातंत्र्य वीर अर्चन’ मूर्तिशिल्प शिविर के बाद ‘स्वातंत्र्य वीर अर्चन’ म्यूरल चित्रांकन शिविर की आज शुरुआत हुई। सात फरवरी तक लखनऊ के चित्रकार परमात्मा प्रसाद श्रीवास्तव के संयोजन में आयोजित म्यूरल शिविर में चित्रकूट के कलाकार संगम सागर, बलराम सिंह, सोम कृष्ण प्रजापति, अभिलाष कुमार, सुरेश कुमार ने म्यूरल चित्रांकन करेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button