उत्तराखंड में फटा ग्लेशियर, जल प्रलय, डेढ़ सौ लोगों के बहने की आशंका, यूपी में अलर्ट

लखनऊ। उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने से जल प्रलय जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है। अलकनंदा और धौली गंगा उफान पर हैं, जिसके चलते चमोली से हरिद्वार तक बड़ा खतरा पैदा हो गया है। ऋषि गंगा और तपोवन हाईड्रो प्रोजेक्ट पूरी तरह ध्वस्त हो गए हैं। ग्लेशियर फटने की सूचना मिलते ही प्रशासन की टीम मौके पहुंच गई हैं। पुलिस लाउडस्पीकर से लोगों को अलर्ट कर रही है। इस हादसे में करीब डेढ़ सौ लोगों के बहने की आशंका है। तबाही के मंजर को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सूबे में अलर्ट जारी कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक़ उत्तराखंड के चमोली में नंदा देवी नेशनल पार्क के अंतर्गत कोर जोन में स्थित ग्लेशियर फटने से रैणी गांव के पास ऋषि गंगा तपोवन हाइड्रो प्रोजेक्ट का बांध टूट गया। हादसे में इस प्रोजेक्ट में काम कर रहे कई मजदूरों के अलावा कई घरों के बहने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि इस सन्दर्भ में अभी तक किसी तरह की अधिकृत जानकारी नहीं दी गई है।

उत्तराखंड में गंगा नदी पर बसे जिलों को हाई अलर्ट पर हैं। राहत आयुक्त ने जिलाधिकारियों को हाई अलर्ट पर रहने का आदेश जारी करते हुए कहा है कि इस समय जल स्तर की निगरानी 24 × 7 करने के साथ ही लोगों को बाहर निकालने और सुरक्षित स्थान पर ले जाने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और पीएसी फ्लड कंपनी को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं।

इस हादसे में रैणी गांव के पास ऋषि गंगा तपोवन हाइड्रो प्रोजेक्ट का बांध टूट गया है। प्रोजेक्ट में काम कर रहे कई मजदूरों और घरों के बहने की आशंका जताई जा रही है। गंगा के किनारे बढ़=से इलाकों को खाली कराया जा रहा है। प्रशासन लोगों से सुरक्षित इलाकों में पहुंचने की अपील कर रहा है। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत कुछ ही समय में रावत घटनास्थल पर पहुंचने वाले हैं।

सीएम त्रिवेंद्र सिंह ने जिला प्रशासन, पुलिस विभाग और आपदा प्रबंधन को इस आपदा से निपटने की आदेश दे दिए हैं। सीएम ने लोगों से किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि लोग धैर्य बनाये रखें, जल्द ही राहत कार्य शुरू हो रहा है।

इसी तरह यूपी के सीएम योगी ने भी राज्य आपदा मोचन बल को भी मुस्तैद किए जाने के निर्देश दिए हैं। योगी ने गंगा नदी के किनारे पड़ने वाले सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को भी पूरी तरह सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button