खसरा, गलाघोटू व काली खांसी के लक्षण दिखें तो तत्काल करें रिपोर्ट, होगी जांच-एसीएमओ

नौतनवा सीएचसी सभागार में आयोजित हुई प्रशिक्षण कार्यशाला, स्वास्थ्य कर्मियों को किया प्रशिक्षित

महराजगंज। जनपद के नौतनवा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) सभागार में आयोजित कार्यशाला में वैक्सीन से बच्चों को विभिन्न बीमारियों से बचाने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया। कार्यशाला में बोलते हुए अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राकेश कुमार ने कहा कि यदि बच्चों में मिजिल्स रूबेला, गलाघोंटू, काली खाँसी व बुखार के साथ लाल चकत्ते या दानें दिखें तो इसकी तत्काल संबंधित अधिकारी को रिपोर्ट करें। ऐसे मरीजों की त्वरित जांच कराकर इलाज किया जाएगा।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सहयोग से नौतनवा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) सभागार में आयोजित कार्यशाला में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. राकेश कुमार ने कहा कि जब भी स्वास्थ्य कर्मी क्षेत्र में जाएं तो सघन निगरानी करें। ऐसे बच्चे या व्यक्ति जिनके शरीर पर बुखार के साथ चकत्ते वाले लाल दानें दिखें तो इसकी त्वरित सूचना दें।

इस मौके पर डब्ल्यूएचओ के सर्विलांस मेडिकल आफिसर डॉ. विकास यादव ने कहा कि पिछले छह माह के दौरान 15 वर्ष आयु वर्ग तक कोई भी बच्चा जिसका कोई भी अंग किसी भी कारण से अचानक लुंज अथवा कमजोर पड़ गया हो, किसी व्यक्ति को बुखार, गले में दर्द, टांसिल का लाल होने, खाँसी के साथ आवाज़ भारी होने, टांसिल या उसके आस-पास ह्वाइट व झिल्ली होने की शिकायत हो तो भी रिपोर्ट करें।

प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले वालों में डॉ.अशोक कुमार, डॉ. एसके त्रिपाठी, डॉ. विश्वजीत राय, डॉ. बीके राय, मुदिता त्रिपाठी, आशा, गायत्री, गीता, दुर्गावती, सुषमा, मीरा, सुनीता, मंजू, निर्मला, संजय चौधरी, संजय कुमार वर्मा, अल्का, अभय कुमार चौधरी, रजनी, उमाकांती, जितेन्द्र शर्मा, अनूप, सुधीर प्रमुख तौर पर शामिल रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button