इस राज्य में बाढ़ और कोरोना के बीच टुटा इस बीमारी का कहर, दस मासूमोंं की गई जान

मेडिकल कॉलेज में चमकी बुखार के लक्षण वाले 69 बच्चे भर्ती हुए थे जिसमें से 55 बच्चे ठीक हो कर घर जा चुके हैं।

हेल्थ डेस्क।। मुजफ्फरपुर जिले में अब तक चमकी बुखार से 10 बच्चों की मौत हो चुकी है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार चमकी बुखार से पीड़ित 69 बच्चों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था जिसमें से 55 बच्चे ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किए गए। दो बच्चे अभी भी एसकेएमसीएच के पीछे वार्ड में भर्ती हैं तथा 9 बच्चों ने अपनी जान गंवा दी है।

दूसरी ओर जिले के अन्य अस्पतालों में कुल 48 बच्चे भर्ती हुए थे जिसमें से 13 बच्चे को डिस्चार्ज किया गया और 34 बच्चों को बेहतर इलाज के लिए बहर रेफर कर दिया गया था। एक बच्चे की मौत केजरीवाल अस्पताल में हुई है. सरकारी आंकड़ों के अनुसार बीते एक सप्ताह में 5 बच्चों ने इस रोग से दम तोड़ा है।

आपको बताते चलें कि अब तक इस बीमारी का कोई ठोस कारण या प्रमाण स्वास्थ्य विभाग को हाथ नहीं लगा है। इस बीमारी पर रोकथाम कैसे लगाया जाए इस बारे में पूछने पर एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉक्टर सुनील शाही ने कहा कि हमारे मेडिकल कॉलेज में चमकी बुखार के लक्षण वाले 69 बच्चे भर्ती हुए थे जिसमें से 55 बच्चे ठीक हो कर घर जा चुके हैं।

दो बच्चे अभी भी एसी वार्ड में भर्ती हैंं, वही दुखद हिस्सा है कि यहां अब तक 9 बच्चे की मौत हो गई है। सिविल सर्जन डॉ शैलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि पीएचसी सहित सरकारी अस्पताल और केजरीवाल मिलाकर अब तक 48 बच्चे भर्ती हुए थे जिसमें से 13 बच्चों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है वही 34 बच्चे को बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया था।

इसी दौरान केजरीवाल अस्पताल में एक बच्चे की मौत हुई थी। कुल मिलाकर जिले में चमकी बुखार के लक्षण वाले 10 बच्चों की मौत अब तक हुई है। स्वास्थ्य विभाग पूरी मुस्तैदी से हर जगह काम कर रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button