खाप पंचायत ने किया दूध की कीमतों में इजाफे का फैसला, एक मार्च से इस रेट में मिलेगा …

हिसार के नारनौद में सतरोल खाप की पंचायत में पंचों ने सरकार को सौ रूपये प्रति लीटर की दर से दूध देने का फैसला किया है।

prabhatvaibhav desk।। केंद्र व प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ हरियाणा के हिसार सतरोल खाप पंचायत में एक अहम फैसला लिया गया है। खाप पंचायत ने दूध के दाम बढ़ाकर सौ रूपये प्रतिलीटर करने का फैसला लिया है। खाप पंचायत ने ये फैसला नए कृषि कानूनों और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बेतहाशा इजाफे के विरोध में लिया है। बतातें चलें कि सतरोल खाप हरियाणा की बड़ी खापों में से एक है। सतरोल खाप पंचायत का प्रभाव हरियाणा के आलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी है।

हिसार के नारनौद में सतरोल खाप की पंचायत में पंचों ने सरकार को सौ रूपये प्रति लीटर की दर से दूध देने का फैसला किया है। खाप पंचायत ने डेयरी किसानों व पशुपालकों से सरकारी कोऑपरेटिव सोसाइटी को सौ रूपये प्रतिलीटर दूध बेंचने की अपील की है। खाप पंचायत ने कहा है कि गरीब व आम आदमी को आपस में दूध देने पर कोई भी पाबंदी नहीं होगी।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने डीजल व पेरोल की कीमतों में बेतहाशा इजाफा करके किसानों पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही है। किसानों ने सरकार के इस कृत्य के जवाब में दूध की कीमतें दोगुनी कर दी है। किसान नेताओं का कहना है कि अगर सरकार ने किसानों की मांगों को नहीं माना तो सब्जियों की कीमतों में भी दोगुना इजाफा कर दिया जाएगा।

शनिवार से ट्विटर पर #1मार्च_से_दूध_100_लीटर यह है शटैग टॉप ट्रेंड में बना हुआ है। दट्वीट पर लोग पूछ रहे हैं कि जब लोग 100 रुपये लीटर पेट्रोल खरीद सकते हैं तो दूध क्‍यों नहीं? कुछ ट्वीट्स में एक रेट लिस्‍ट भी शेयर की जा रही थी। जैसे पेट्रोल पर कई तरह के टैक्‍स लगते हैं, उसी तरह दूध भी कई टैक्‍स की बात कही गई है। इसमें हरा चारा टैक्‍स, तुड़ी टैक्‍स, गोबर टैक्‍स, लेबर चार्ज और किसानों के लाभ को जोड़ा गया है। नीचे नोट में लिखा है कि नई कीमतें एक मार्च से लागू होंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button