जानिए यूपी में अब किसको लगेगा कोरोना वैक्सीन का टीका, डेट हुई घोषित

प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान का शनिवार को सफलतापूर्वक शुभारम्भ होने के बाद अब इसका अगला कार्यक्रम 22 जनवरी को आयोजित किया जाएगा।

लखनऊ। प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान का शनिवार को सफलतापूर्वक शुभारम्भ होने के बाद अब इसका अगला कार्यक्रम 22 जनवरी को आयोजित किया जाएगा।
corona vaccine

वैक्सीन पर्याप्त संख्या में उपलब्ध

अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने रविवार को बताया कि इसके बाद हर सप्ताह में दो दिन टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि वहीं 22 जनवरी को लेकर पूरी तैयारी की जा रही है। वैक्सीन पर्याप्त संख्या में उपलब्ध है। सत्र में जिन लोगों का टीकाकरण किया जाएगा, उनकी सूची बनाई जा रही है।
इसके लिए को-विन पोर्टल विशेष रूप से बनाया गया है। इस पोर्टल पर जैसे ही लाभार्थी का चयन होता है, उसे एसएमएस भेजा जाता है। इसमें टीकाकरण की तारीख और स्थान बताया जाता है। 22 जनवरी को भी स्वास्थ्यकर्मियों का ही वैक्सीन लगाई जाएगी। जब मेडिकल स्टॉफ का टीकाकरण हो जाएगा तो उसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स के वैक्सीनेशन का कार्य प्रारंभ करेंगे।

संक्रमण के 404 नए मरीज मिले

अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश में पिछले चौबीस घंटे में संक्रमण के 404 नए मामले सामने आए हैं। इसी दौरान 666 मरीज इलाज के बाद स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए गए। राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या अब घटकर 8,881 हो गई है। वहीं रिकवरी दर बढ़कर हुई 97.07 प्रतिशत हो गई है।
कुल संक्रमित मरीजों में से 3,210 लोग होम आइसोलेशन में हैं। अब तक कुल 3,49,456 लोगों ने होम आइसोलेशन का विकल्प चुना, जिनमें से 3,46,246 लोगों के इलाज का समय पूरा होने पर उन्हें डिस्चार्ज घोषित कर दिया गया है।
प्रदेश में कल विभिन्न प्रयोगशालाओं में 1,28,073 कोरोना नमूनों की जांच की गई। वहीं अब तक कुल 2,62,14,964 कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं। इसके साथ ही अब तक कुल 5,79,071 लोग संक्रमित होने के बाद इलाज से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। अब तक कोरोना से कुल 8,576 लोगों की मृत्यु हुई है। बीते चौबीस घंटे में 06 लोगों की मौत हुई है।
प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,83,141 क्षेत्रों में 5,07,218 टीम दिवस के माध्यम से 3,12,88,971 घरों के 15,20,60,964 व्यक्तियों का सर्वेक्षण किया गया है।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से चौबीस घंटे में 4,693 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। वहीं अब तक कुल चार लाख से अधिक लोग इस सुविधा का प्रयोग लेकर चिकित्सीय परामर्श ले चुके हैं।

10,36,684 नए गोल्डन कार्ड बनाए गए

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि आयुष्मान भारत के गोल्डन कार्ड बनाने का अभियान 15 दिसम्बर,2020 से इस महीने की 15 जनवरी तक चलाया गया। अभियान के दौरान 10,36,684 नए गोल्डन कार्ड बनाए गए। इसी अभियान के दौरान 3,77,000 ऐसे परिवारों को गोल्डन कार्ड का लाभ मिले, जिनके घर में एक भी गोल्डन कार्ड नहीं था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button