बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र, उत्तर भारत की ओर तेजी से बढ़ रहा मानूसन

उन्होंने बताया कि सामान्य स्थिति में यूपी में 18 से 20 जून के आसपास मानसून की आमद होती है, लेकिन इस बार यह एक हफ्ते पहले ही दस्तक दे सकता है।

नई दिल्ली।। मौसम की गतिविधियां इस वर्ष पिछले माह से बराबर प्रभावित हो रही हैं। पहले चक्रवाती तूफान ताउते फिर यास क्रमश: समुद्र के पश्चिमी और पूर्वी तटों पर सक्रिय हुआ। इससे तेज हवा के साथ उत्तर प्रदेश में भी हल्की बारिश हुई और लोगों को गर्मी से काफी राहत मिल सकी।

वहीं अब मानसून भी सक्रिय होता दिखाई दे रहा है और बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से दक्षिणी पश्चिमी मानसून तेजी से उत्तर भारत की ओर बढ़ रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर प्रदेश में फिलहाल प्री मानसून की बारिश होती रहेगी और सामान्य वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष मानसून तय समय से पहले पूर्वी उत्तर प्रदेश में आ जाएगा।

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डा. एसएन सुनील पाण्डेय ने गुरुवार को बताया कि बंगाल की खाड़ी में एक-दो दिन में कम दबाव का क्षेत्र बनेगा जिसके चलते मानसून सक्रिय होगा और अगले दो-तीन दिन में इसके पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि इस बार लगभग एक हफ्ते पहले मानसून आने की आहट है।

उन्होंने बताया कि सामान्य स्थिति में यूपी में 18 से 20 जून के आसपास मानसून की आमद होती है, लेकिन इस बार यह एक हफ्ते पहले ही दस्तक दे सकता है। मानसून की चाल सामान्य रही तो कानपुर में भी तिथि से पहले ही मानसून आ जाएगा।

बताया कि फिलहाल प्री मानसून गतिविधियां शुरु हो गई हैं, जिसके चलते उत्तर प्रदेश में आगामी दो से तीन दिनों तक आसमान में बादल छाये रहेंगे और तेज हवाओं के साथ अलग-अलग स्थानों पर बौछारें पड़ने की उम्मीद है। अभी दो दिन उमस भरी गर्मी के साथ हवायें 20 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलेंगी। बताया कि इन दिनों मानसून महाराष्ट्र में तेजी से बारिश कर रहा है और बराबर उत्तर भारत की ओर दक्षिणी पश्चिमी मानसून बढ़ रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button