Mining Scam: पूर्व IAS सत्येंद्र सिंह के ठिकानों पर CBI के छापे, मिली अकूत संपत्ति

LDA के VC और लखनऊ के DM भी रह चुके हैं सत्येंद्र सिंह (Mining Scam)

लखनऊ। सीबीआई ने खनन घोटाले (Mining Scam) में पूर्व आईएएस सत्येंद्र सिंह और उनके करीबी रिश्तेदारों के लखनऊ, कानपुर, गाजियाबाद और दिल्ली समेत नौ ठिकानों पर छापेमारी की। जांच एजेंसी ने उनके अलावा नौ अन्य खनन व्यापारियों के घर भी छापे मारे गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ख़ास रहे सत्येंद्र सिंह के ठिकानों से 10 लाख नकद, 51 लाख रुपये के फिक्स डिपाजिट समेत सौ करोड़ से अधिक की संपत्ति बरामद हुई। सीबीआई ने प्रारंभिक जांच के बाद सत्येंद्र सिंह और नौ खनन व्यापारियों पर एफआईआर दर्ज किया। (Mining Scam)

Mining Scam - ias satyendra singh

 

अखिलेश सरकार के करीबी रहे पूर्व आईएएस सत्येंद्र सिंह पर आरोप हैं कि बतौर जिलाधिकारी कौशांबी उन्होंने शासन के निर्देशों के विपरीत अपने चहेतों को बिना टेंडर की शर्तों का अनुपालन किए हुए करोड़ों रुपये के खनन (Mining Scam) का का ठेका दे दिया। इस मामले में उनके अलावा नौ अन्य खनन व्यापारियों के घर भी छापेमारी की कार्रवाही हुई है। बताते चलें कि सत्येंद्र सिंह लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और लखनऊ के जिलाधिकारी भी रह चुके हैं। (Mining Scam)

Farmer Movement : टिकैत के तेवर से सांसत में सरकार, दिल्ली की सीमाओं की किलेबंदी

उल्लेखनीय है कि हाईकोर्ट ने वर्ष 2016 में सीबीआई को कौशांबी में हुए खनन घोटाले की जांच करने के आदेश दिए थे। इस मामले में प्रारंभिक सबूत जुटाने के बाद सीबीआई ने छापे की कार्रवाई की है। जांच में सामने आया कि बतौर जिलाधिकारी कौशांबी सत्येंद्र सिंह ने वर्ष 2012-14 के दौरान नियमकानून ताक पर रखकर अपने चहेतों को खनन का ठेका दिया। इस दौरान उन्होंने शासन के नियमों के विपरीत दो नए ठेके अलग-अलग जारी किया था और नौ पट्टों का नवीनीकरण अपने खास लोगों के पक्ष में कर दिया था। (Mining Scam)

आम आदमी पर और पड़ेगी मंहगाई की मार, सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर लगाया सेस

प्रारंभिक जांच के बाद सीबीआई ने पूर्व आईएएस सत्येंद्र सिंह के खिलाफ पद के दुरुपयोग, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और अमानत में खयानत का मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा नेपाली निषाद कौशांबी, नरनारायण मिश्रा, रमाकांत द्विवेदी, खेमराज सिंह, मुन्नी लाल, शिव प्रकाश सिंह, राम अभिलाष, योगेंद्र सिंह और राम प्रताप सिंह प्रयागराज के खिलाफ भी केस दर्ज किया। इन खनन व्यापारियों के खिलाफ धोखाधड़ी व सरकारी नियमों का उल्लंघन करने का केस दर्ज हुआ है। (Mining Scam)

सौ करोड़ से अधिक की संपत्ति बरामद (Mining Scam)

सीबीआई ने सत्येंद्र सिंह के ठिकानों से सौ करोड़ से अधिक की संपत्ति बरामद की है। छापे में सीबीआई को अचल संपत्ति से जुड़े 44 दस्तावेज मिले हैं। सीबीआई के सूत्रों के मुताबिक़ बाजार में इनकी कीमत 50 करोड़ रुपये से अधिक की होगी। छापे में 36 बैंक खाते, 10 लाख रुपये नकद, 2.11 करोड़ रुपये के जेवर आदि बरामद हुए हैं। सीबीआई ने एक लाख रुपये की पुरानी करेंसी भी बरामद की है। (Mining Scam)

Farmer Movement : टिकैत के तेवर से सांसत में सरकार, दिल्ली की सीमाओं की किलेबंदी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button