MP: एशिया के सबसे बड़े मिट्टी के बांध से छोडृा जा रहा 2 लाख 20 हजार क्यूसेक पानी, निचले इलाकों में हाई अलर्ट

जल संसाधन विभाग के एसडीओ उदयभान मर्सकोले ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि लगातार बारिश होने के कारण डेम का स्तर बढ़ गया है। अधिकारियों से मिले निर्देशों के बाद शुक्रवार को बांध के गेट खोले गए हैं।

सिवनी।। मध्यप्रदेश के सिवनी जिले में स्थित एशिया के सबसे बड़े मिट्टी के बांध संजय सरोवर के लबालब हो जाने से शुक्रवार 28 अगस्त की रात्रि 9 बजे बांध के सभी 10 गेट खोल दिये गये हैं। रात्रि में बांध से 1 लाख 25 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया, जबकि शनिवार दोपहर में 2 लाख 20 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इसके चलते निचले इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

जल संसाधन विभाग के एसडीओ उदयभान मर्सकोले ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि लगातार बारिश होने के कारण डेम का स्तर बढ़ गया है। अधिकारियों से मिले निर्देशों के बाद शुक्रवार को बांध के गेट खोले गए हैं। बांध का जल स्तर बढ़ गया है उसे मीटर के लेबल तक लाने के लिए गेट से पानी छोड़ा जा रहा है। संजय सरोवर बांध के गेट खोले जाने के बाद सिवनी, बालाघाट व महाराष्ट्र के गोंदिया, भंडारा तक में निचले इलाकों में पानी भराव की स्थिति बनती है।

इसे देखते हुए इन जिलों के अधिकारियों को सूचना दी गई है। बालाघाट व महाराष्ट्र के प्रभावित जिलों के अधिकारी नजर बनाए हुए हैं। छपारा तहसीलदार ने  बताया कि भीमगढ़ ग्राम के 100 परिवारों तथा ग्राम खापा के 10 परिवारों व गंगई के लोगों को अन्य स्थानों पर भेजा गया है।

लगातार बढ़ रहा नदी-नालों का जलस्तर, जिला प्रशासन ने दी चेतावनी–

जिले में लगातार हो रही बारिश के कारण नदी, नालों में पानी का बहाव तेज है । भीमगढ़ बांध में सामान्य से अधिक मात्रा में पानी आने से बांध की सुरक्षा हेतु आवश्यकता अनुसार गेट खोले जाकर पानी की निकासी की जा रही है ।

इसी प्रकार जिले के अन्य लघु मध्यम बांधों की सुरक्षा हेतु आवश्यकतानुसार गेट खोले जाकर पानी की निकासी की व्यवस्था की जा रही है । जिले के नागरिकों की सुरक्षा हेतु कार्यपालिक मजिस्ट्रेट, पुलिस एवं जल संसाधन विभाग का अमला दिनांक 29 अगस्त 2020 के सायंकाल से ही लगातार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजे जाने की कार्यवाही में जुटा है ।

भीमगढ बांध के कंट्रोल रूम में राजस्व विभाग, पुलिस एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं । जलभराव होने वाले क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित निकाल कर अस्थाई शिविरों में रखे जाने का कार्य प्रारंभ किया गया है ।

नागरिकों से अनुरोध है कि अधिक जलभराव वाले क्षेत्रों, पूर्व में जहां बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हुई है उन स्थानों से स्वयं सुरक्षित स्थानों पर आ जाएं । बाढ़ पानी आदि में फंसे लोगों को निकालने के लिए जिला कंट्रोल रूम नंबर 07692225866 एवं प्रभारी अधिकारी केसी बघेल 94 24961698 पर सूचित करें ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button