National Human Rights Commission की टीम चुनाव बाद हिंसा का जायजा लेने पहुंची बंगाल

आयोग (National Human Rights Commission) के 11 सदस्यों की तीन टीम बुधवार को ही कोलकाता पहुंच गई थी। गुरुवार को सदस्यों की तीन टीमों ने बंगाल के विभिन्न इलाकों के दौरा शुरू कर दिया है।

कोलकाता।। पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा से संबंधित हालात का जायजा लेने के लिए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (National Human Rights Commission) की टीम आखिरकार जांच के लिए राज्य पहुंच गई है। टीम के सदस्य जमीनी हकीकत की पड़ताल करेगी और शिकायतों को सुनेगी। उसके बाद अपनी रिपोर्ट कलकत्ता हाई कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत करेंगी।

दरअसल, आयोग (National Human Rights Commission) के 11 सदस्यों की तीन टीम बुधवार को ही कोलकाता पहुंच गई थी। गुरुवार को सदस्यों की तीन टीमों ने बंगाल के विभिन्न इलाकों के दौरा शुरू कर दिया है। इनमें एक टीम उन जिलों और आसपास के विभिन्न स्थानों पर जाएगी, जहां चुनाव के बाद हिंसा की शिकायतें मिली हैं। गुरुवार को टीम के सदस्य सिलीगुड़ी से कूचबिहार पहुंचे, जबकि दूसरी टीम उत्तर 24 परगना के बशीरहाट इलाके में पहुंची है।

हिंसा की जमीनी हकीकात समझने के लिए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (National Human Rights Commission) की सात सदस्यीय समिति में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष आतिफ रशीद, राष्ट्रीय महिला आयोग के सदस्य राजुलबेन एल देसाई, पश्चिम बंगाल राज्य मानवाधिकार आयोग के रजिस्ट्रार प्रदीप कुमार पांजा और एनएचआरसी सदस्य राजीव जैन शामिल हैं। बंगाल में चुनाव के बाद हिंसा को लेकर लगातार आरोप लगाये जाते रहे हैं, हालांकि ममता बनर्जी ने साफ कर दिया है कि बंगाल में कोई राजनीतिक हिंसा नहीं हो रही है।

Social media पर विपक्ष से लड़ने के लिए BJP करने जा रही ये काम, पार्टी कार्यकर्ताओं को देगी…
24 june horoscope: कैसा रहेगा आज का दिन? जानिए क्या कहता है आपका भाग्यफल
हर राज्य का शिक्षा बोर्ड है स्वतंत्र, अपने हिसाब से लें मूल्यांकन पर निर्णय- Supreme Court
नंदीग्राम चुनाव: High Court में ममता के वकील ने जज को ही दे डाली नसीहत, कहा- आप करे ये काम
CM योगी ने सभी ग्राम प्रधानों को लिखा पत्र, विशेष सावधानी बरतने के दिए- निर्देश
Uttarakhand: भूमि अतिक्रमण हटवाने गयी टीम पर हमला, महिला SI समेत कई घायल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button