Social Media: दिशा रवि की गिरफ्तारी का देशव्यापी विरोध, लोगों ने बताया लोकतंत्र पर हमला

राजनितिक दलों और तमाम संगठनों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सोशल मीडिया (Social Media) पर भी दिशा रवि की गिरफ्तारी के खिलाफ मुहिम शुरू हो गई है।

prabhatvaibhav desk। किसान आंदोलन से जुड़ा टूलकिट मामला अब गंभीर हो चुका है। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने शनिवार को बेंगलुरु से 21 वर्षीया जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार किया है। दिल्ली की एक अदालत ने रविवार को दिशा को पांच दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया।

दिशा की गिरफ्तारी का देशभर में विरोध शुरू हो गया है। इस मामले को लेकर राजनितिक दलों और तमाम संगठनों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सोशल मीडिया (Social Media) पर भी दिशा रवि की गिरफ्तारी के खिलाफ मुहिम शुरू हो गई है।

जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि जलवायु कार्यकर्ता हैं, जिस पर आरोप है कि जिस टूलकिट को ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट किया था, उसे दिशा रवि ने ही एडिट की। अब दिशा की गिरफ्तारी के विरोध (Social Media) में देशभर में आवाजें उठ रही हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिशा की गिरफ्तारी को लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला करार दिया है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि 21-वर्षीय दिशा रवि की गिरफ्तारी लोकतंत्र पर अभूतपूर्व हमला है। अपने किसानों का समर्थन करना अपराध नहीं है।

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने ट्वीटर पर दिशा की गिरफ्तारी की निंदा करते लिखा कि यह पूरी तरह से अत्याचार है! ये अनुचित उत्पीड़न और धमकी है। मैं दिशा रवि के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करता हूं। इसी तरह वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा कि माउंट कार्मेल कालेज की 21 वर्षीया छात्रा और जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि राष्ट्र के लिए खतरा बन गई है,

स्पैनिश टीचर से मिले तैमूर अली खान, सोशल मीडिया पर तस्वीरें हुई वायरल

तो इसका मतलब है कि भारतीय राज्य बहुत ही कमजोर नींव पर खड़ा है। इसी तरह कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट कर कहा है कि एक्टिविस्ट जेल में बंद हैं, जबकि टेररिस्ट जमानत पर हैं। (Social Media) आश्चर्य है कि हमारे अधिकारी पुलवामा हमले की सालगिरह को कैसे मनाएंगे?
इसी तरह सीपीआई महासचिव सीताराम येचुरी ने दिशा की गिरफ्तारी करर सख्त निंदा करते हुए कहा कि मोदी सरकार को लगता है कि सेडिशन के तहत किसानों की एक बेटी को गिरफ्तार करके वह किसानों के आंदोलन को कमजोर कर सकती है, लेकिन वास्तव में ये देश के युवाओं को जागृत करेगा और लोकतंत्र के लिए संघर्ष को मजबूत करेगा।
इसी तरह सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि सवाल ये है कि वो कब गिरफ्तार होंगे जो भारत की राष्ट्रीय एवं सामाजिक एकता को खंडित करने के लिए सुबह-शाम जनता के बीच घृणा व विभाजन को जन्म देने के लिए शाब्दिक टूलकिट जारी करते रहते हैं।
दिशा की गिरफ्तारी को लेकर देशव्यापी प्रतिक्रियाओं के बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने दिशा की तत्काल रिहाई की मांग की है। किसान नेता दर्शन पाल की ने बयान जारी कर कहा गया है कि दिशा किसानों के समर्थन में खड़ी थीं। हम उनकी तत्काल बिना शर्त रिहाई की मांग करते हैं। इसी तरह सोशल मीडिया पर तमाम सामजिक कार्यकर्ताओं, पत्रकारों, लेखकों और कवियों ने दिशा की गिरफ्तारी के विरोध में अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।
राशिफल 10 फरवरी : आज इन राशि के लोग बच के रहें, पढ़ें अपना भविष्यफल

Priyanka Gandhi का तंज – निहत्थी लड़की से डरी सरकार, भाजपा सांसद ने दिया ये जवाब

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button