UP में अब अपराधियों की खेर नहीं, CM योगी ने दिया ये सख्त आदेश

ऐसे लोगों की अवैध सम्पत्तियां गिराने के साथ इसका हर्जाना और कब्जे की अवधि का किराया उन्हीं से वसूलने की कवायद जहां जारी है।

लखनऊ।। उत्तर प्रदेश में दबंग तरीके से लोगों की सम्पत्ति पर कब्जा करने और गैर कानूनी तरीके से अपना साम्राज्य खड़ा करने वाला हर एक माफिया योगी सरकार के निशाने पर है।

ऐसे लोगों की अवैध सम्पत्तियां गिराने के साथ इसका हर्जाना और कब्जे की अवधि का किराया उन्हीं से वसूलने की कवायद जहां जारी है। वहीं अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि ऑपरेशन माफिया की कार्रवाई पूरे प्रदेश में एक-एक माफिया को लक्ष्य करके प्रभावी ढंग संचालित की जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की अपराध एवं भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टाॅलरेन्स की नीति है। भ्रष्टाचार, अराजकता और अव्यवस्था के मामलों में कोई भी रियायत नहीं दी जा सकती।

मुख्यमंत्री ने सख्त निर्देश दिए हैं कि पूरे प्रदेश में दबंगई से सम्पत्तियों पर कब्जा करने वाले माफियाओं के विरुद्ध कार्ययोजना बनाकर कार्रवाई की जाए। माफियाओं की अवैध सम्पत्ति की जब्त करने का भी काम हो। माफिया तत्वों के विरुद्ध प्रत्येक जोन, रेंज व जनपद में ऑपरेशन चलाया जाए। जनपद स्तर की समीक्षा रेंज स्तर पर तथा रेंज स्तर की समीक्षा जोन स्तर पर की जाए।

वहीं मुख्यमंत्री ने महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों को नियंत्रित करने के लिए संचालित ऑपरेशन शक्ति और माफिया तत्वों के विरुद्ध संचालित ऑपरेशन माफिया की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि इन गतिविधियों को पूरे प्रदेश में निरन्तर और प्रभावी ढंग से संचालित रखा जाए।

उन्होंने वरिष्ठ अफसरों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि बहन-बेटियों की सुरक्षा के प्रति खतरा बने लोगों के प्रति कार्रवाई में पूरी तत्परता बरती जानी चाहिए। इस सम्बन्ध में हर स्तर के अधिकारी को संवेदनशीलता रहें। एण्टी रोमियो स्क्वाॅयड को निरन्तर व प्रभावी ढंग से क्रियाशील रखा जाए।

राज्य में महिलाओं, बच्चियों से छेड़खानी, दुर्व्यहार, अपराध और यौन अपराध में लिप्त अपराधियों के पोस्टर शहर के सार्वजनिक स्थानों पर लगाने का आदेश हाल ही में दिया गया है, ताकि ऐसे लोगों को समाज के सामने लाकर शर्मिंदा किया जा सके। इस काम के लिए पुलिस महानिदेशक को कार्य योजना बनाने के लिए कहा गया है।

वहीं मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था को लेकर पर्व और त्योहारों के मद्देनजर प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बरतने के भी निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही माहौल को खराब करने वाले तत्वों को चिह्नित कर उनके विरुद्ध पहले से ही कार्रवाई करने को बोला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश अपराधियों के लिए शरणस्थली नहीं हो सकती। इसके दृष्टिगत अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई में कोई रियायत न बरती जाए और हर मामले में प्रभावी कदम उठा जाएं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button