काशी को PM मोदी का तोहफा, 1475 करोड़ की परियोजनाओं की दी सौगात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए बनारसियों का दिल जीत लिया। पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी में की।

वाराणसी।। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वाराणसी का 27वां दौरा किया। इस दौरान उन्होंने काशीवासियों को 1475 करोड़ की परियोजनाएं सौंपी। जिनमें 744 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण और 730.91 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेली भी मौजूद रहीं। 186 करोड़ की लागत से बना भारत-जापान की दोस्ती का प्रतीक रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर का भी लोकार्पण किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वायुसेना के विशेष विमान से साढ़े 10 बजे वाराणसी पहुंच गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मंत्री आशुतोष टंडन, राधामोहन सिंह सांसद, मेयर मृदुला जायसवाल और नवनिर्वाचित जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या ने एयरपोर्ट पहुंचकर आगवानी की। इस दौरान पूरा एयरपोर्ट परिसर छावनी में तब्दील रहा। एयरपोर्ट के चारों तरफ पुलिस प्रशासन सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियां तैनात रहीं। प्रधानमंत्री हवाई जहाज से उतरकर सभी का अभिवादन स्वीकार कर रहे थे। इसी दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मौर्या उनके पैर छूने को झुकी थीं। लेकिन प्रधानमंत्री पीछे हट गए। उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का वाराणसी आने पर आभार जताया। इस दौरान उन्होंने बीएचयू में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नई काशी अब नए आयामों को छू रही है। सीएम ने कहा कि पिछले 16 महीनों से पूरा देश और दुनिया कोरोना वायरस महामारी से त्रस्त है। पीएम मोदी के नेतृत्व में जिस तरह कोरोना को निंयत्रित किया गया है। जिसकी हर तरफ तारीफ हो रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए बनारसियों का दिल जीत लिया। पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी में की। उन्होंने भारत माता की जय और हर हर महादेव बोलते हुए अपनी बात शुरू की। कहा कि लंबे समय बाद आप सब लोगन से सीधी मुलाकात का अवसर मिलल हो। काशी के सभी लोगन के प्रणाम। हम समस्त लोग के दुख हरे वाले भोलेनाथ, माता अन्नपूर्णा के चरण में भी शीश झुकावत ही।

पीएम मोदी ने कहा कि बीमारियों से जूझने के दौरान सौ साल में पूरी दुनिया में आई सबसे बड़ी आफत है। इसलिए कोरोना से निपटने में यूपी के प्रयास उल्लेखनीय है। काशी के साथियों और शासन प्रशासन संग कोरोना योद्धाओं की टीम का आभारी हूं। कभी आधी रात को फोन किया तो लोग मोर्चे पर तैनात मिले। आपने प्रयासों में कोई कमी नहीं छोड़ी। इसी का नतीजा है कि यूपी में हालत संभले हैं। यूपी में सबसे अधिक टेस्टिंग हो रही है। यूपी पूरे देश में सबसे अधिक वैक्सीनेशन का राज्य है। सबको मुफ्त वैक्सीन मिल रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button